• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Bahraich
  • Two Patients Are Being Treated On One Bed, 247 Children Are Admitted In The Children's Ward, From September 7 The Team Will Go Door to door To Investigate The Infected

बहराइच में बुखार से बच्चों की मौत:एक बेड पर दो मरीजों का किया जा रहा है इलाज, चिल्ड्रेन वार्ड में भर्ती हैं 247 बच्चें, 7 सितंबर से टीम घर-घर जाकर करेगी संक्रमितों की जांच

बहराइच2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक बेड पर दो बच्चे हैं भर्ती। - Dainik Bhaskar
एक बेड पर दो बच्चे हैं भर्ती।

उत्तर प्रदेश के बहराइच में महर्षि बालार्क जिला अस्पताल के चिल्ड्रेन वार्ड के पीआईसीयू में बीते सात दिन में पांच बच्चों की मौत बुखार से हुई है। वहीं पीआईसीयू और जनरल चिल्ड्रेन वार्ड में 247 बच्चों को भर्ती कर उनका इलाज किया जा रहा है। सात दिन में चिकित्सकों की टीम ने ढाई हजार बच्चों का टेस्ट लिया है। सात सितंबर से घर-घर बुखार, डायरिया और मलेरिया समेत अन्य बीमारियों के संक्रमितों की जांच की जाएगी। इसके लिए टीम बनाई गई है। टीम एक दिन में 50 घरों में बीमारियों से ग्रसित लोगों की जांच करेगी।

इलाज के दौरान दम तोड़ रहे बच्चे

फिरोजाबाद और कानपुर में डेंगू, बुखार और मलेरिया से बच्चे दम तोड़ रहे हैं। मौतों में बहराइच जिला भी पीछे नहीं रहा है। मेडिकल कालेज से संबद्ध महर्षि बालार्क जिला चिकित्सालय के चिल्ड्रेन वार्ड और पीआईसीयू वार्ड में बीते सात दिन में 247 बच्चों को भर्ती कर इलाज किया गया। सभी बच्चे 29 अगस्त से चार सितंबर के बीच अस्पताल में भर्ती हुए। इतना ही नहीं पीआईसीयू वार्ड में भर्ती पांच बच्चों की मौत भी बीते सात दिन में हुई है। बाल रोग विभाग के प्रभारी डॉ. केके वर्मा ने बताया कि पीआईसीयू वार्ड में भर्ती सभी बच्चों की हालत गंभीर थी। इलाज के दौरान बच्चों की मौत हुई है।

तुरंत करवाएं बच्चों का इलाज

सरकारी और प्राइवेट अस्पताल के ओपीडी का आलम यह है कि प्रतिदिन बड़ी संख्या में बच्चे बीमार होकर अस्पताल पहुंच रहे हैं। इससे अस्पताल में बने पीआईसीयू और जनरल चिल्ड्रेन वार्ड में एक बेड पर दो-दो बच्चे भर्ती कर उनका इलाज किया जा रहा है। एक भी बेड अस्पताल में खाली नहीं है। मामले में सीएमएस डॉ.ओपी पांडेय ने बताया कि अस्पताल में गंभीर हालत में बच्चों को लाया गया था। इलाज के दौरान उनकी मौत हुई है। बच्चों के बीमार होने पर परिवार के लोग तुरंत उनको चिकित्सकों को दिखाएं।

सात सितंबर से चलेगा अभियान

सीएमओ डॉ. एसके सिंह ने बताया कि सरकार के निर्देश पर घर-घर बुखार, डायरिया, मलेरिया और डेंगू के मरीजों की जांच के लिए सात सितंबर से अभियान चलाया जाएगा। जिसका समापन 17 सितंबर को होगा। पोलियो अभियान की तर्ज पर स्वास्थ्य टीम एक दिन में 50 घरों में संक्रमितों की जांच कर रिपोर्ट देगी।

खबरें और भी हैं...