पयागपुर के बरगदही में मनाई गई टैगोर-हार्डिकर की जयंती:कांग्रेस सेवादल कार्यकर्ताओं ने किया आयोजन, राष्ट्रगान भी किया गया प्रस्तुत

पयागपुर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पयागपुर तहसील क्षेत्र के सेवादल प्रशिक्षण स्थल बरगदही नेजाभार में रवींद्रनाथ टैगोर व डा. नारायण सुब्बाराव हार्डिकर की जयंती मनाई गई। कार्यक्रम का संयोजन जनसेवा जागृति सभा कांग्रेस सेवादल के प्रदेश सचिव रमेश चन्द्र मिश्र ने किया। सेवादल के एनटीसी व एनआईटीसी ट्रेंड कैडरों ने चित्र के सामने सैल्यूट कर वंदेमातरम व हम भारत के रखवाले हैं...का गायन किया। राष्ट्रगान भी प्रस्तुत किया गया।

सात मई को हुआ था हार्डिकर व टैगोर का जन्म
राष्ट्रीय प्रशिक्षक विनय सिंह ने कहा कि डा. सुब्बाराव हार्डीकर का जन्म सात मई 1989 में धारवाड़ (कर्नाटक प्रदेश ) में एक मध्यम परिवार मे हुआ था। उन्होंने हिंदुस्तानी सेवादल जैसे स्वयंसेवी संगठन की स्थापना की थी। उनके बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता है। जिला महासचिव दिवाकर पाण्डेय ने बताया कि कि रवीन्द्रनाथ टैगोर का भी जन्म 1861 में आज ही के दिन हुआ था। उनकी कृति गीतांजलि पर नोबेल पुरुस्कार भी मिला था।

उन्होने शांति निकेतन की स्थापना की थी। टैगोर को गुरुदेव की उपाधि महात्मा गांधी ने दी थी। वे नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के भी बेहद खास थे। कांग्रेस नेता दीपक त्रिवेदी ने भी कहा कि रवींद्रनाथ टैगोर ने 1918 मे विश्व भारती विश्वविद्यालय की स्थापना की थी। इस मौके पर रंगनाथ मिश्र, सर्वजीत शुक्ल, कृष्ण कुमार, संवारे, नसीम इदरीसी ,जहांगीर,अंकित मिश्रा, बबलू राव, अवधराज पासवान, बैजनाथ चौधरी, लक्ष्मण राव समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...