सामुदायिक शौचालय के निर्माण में हो रहा खेल:बेल्थरा रोड में सामुदायिक शौचालय का निर्माण कार्य पड़ा अधूरा, निर्माण पूर्ण दिखाकर धन का कर लिया गया आहरण

बेल्थरा रोड4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना के तहत सभी गांवों में सामुदायिक शौचालय के निर्माण कार्य पूरा कराने के आदेश के एक वर्ष बाद भी सीयर ब्लाक में जिम्मेदारों की लापरवाही से सामुदायिक शौचालय का निर्माण कार्य अधूरा है। रोज गांव में तो अधिकारी की मिलीभगत के चलते अधूरे शौचालयों को भी पूर्ण दिखाकर धन का आहरण कर लिया गया है।

दर्जन भर शौचालय पड़े हैं अधूरे
बता दें कि तत्कालीन जिलाधिकारी द्वारा मार्च 2021 के दूसरे सप्ताह में बेल्थरा रोड के औचक निरीक्षण के दौरान बीडीओ सीयर को 25 मार्च 2021 तक गावों में निर्माणाधीन सामुदायिक शौचालयों को पूरा कराने का आदेश दिया गया था। लेकिन उनके इस आदेश के बावजूद भी दर्जन भर शौचालय अधूरे पड़े हैं।

शौचालय में न सीट, न टैंक
प्रदेश सरकार द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के तहत चौदहवें वित्त से हर एक गांव में गरीबों की शादी विवाह के दौरान निःशुल्क प्रयोग करने के लिए बनाए जाने वाला सामुदायिक शौचालय आधा अधूरा बनाकर सरकारी धन का आहरण कर लिया गया है। इसका उदाहरण क्षेत्र के दोथ आदि गांवों में बना सामुदायिक शौचालय खुद ब खुद बयां कर रहे हैं। दोथ में बने सामुदायिक शौचालय में न सीट ही नजर आई न टैंक ही पूर्ण दिखा।

ब्लॉक में करीब 12 शौचालय पड़े अधूरे
यही नहीं सामुदायिक शौचालय का छत तक नहीं ढाला गया है। ऐसे में आखिर इस शौचालय को ओके कैसे करार दे दिया गया है। यदि ईमानदारी से इसकी जांच की जाए तो सीयर ब्लॉक में दर्जनों की संख्या में इस तरह के मामले प्रकाश में आएंगे। आश्चर्य ऐसे मामलों के संज्ञान में आने के बावजूद जिम्मेदार बच कैसे जाते हैं।

लोगों का कहना है कि क्या प्रदेश में चल रहे बाबा का बुल्डोजर सरकार की ऐसी महत्वाकांक्षी योजना का पलीता लगा रहे अधिकारियों के लिए नहीं है। उधर दोथ में अपूर्ण शौचालय के निर्माण की बाबत प्रधान आशुतोष यादव का साफ कहना है कि इस सामुदायिक शौचालय का कार्य पूर्व प्रधान के कार्यकाल में पूर्ण दिखा कर पैसा आहरित कर लिया गया है। ऐसे में वह बिना बजट के इसे बनवाने में असमर्थ हैं।

खबरें और भी हैं...