भ्रष्टाचार के खिलाफ एक्शन में सरकार:बलिया नगर पालिका के EO दिनेश कुमार सस्पेंड, वित्तीय अनियमितता का है आरोप

बलियाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

शासन ने वित्तीय अनियमितता के आरोप में नगर पालिका बलिया के अधिशासी अधिकारी (EO) दिनेश विश्वकर्मा को निलंबित कर दिया है। निलंबन की अवधि में उन्हें निदेशालय से संबद्ध किया गया है। EO दिनेश कुमार पिछले काफी दिनों से गंभीर आरोपों से घिरे हुए थे। उनके खिलाफ कई शिकायतें शासन स्तर तक पहुंची थीं, जिसके बाद यह कार्रवाई की गई।

नगर निकाय के प्रमुख सचिव अमृत अभिजात ने EO दिनेश कुमार को निलंबित करने का निर्देश दिया था। उनके निर्देश पर उप सचिव बृजेंद्र सिंह ने दिनेश कुमार को निलंबित करते हुए इसकी जानकारी संबंधित अधिकारियों को भेज दी है।

दिनेश कुमार विश्वकर्मा के ऊपर हाइड्रो गार्बेज टीपर की खरीद में साढ़े 6 लाख के अनियमित भुगतान, PPE किट, ठेला और ट्राई साइकिल की खरीद में सक्षम स्तर से वित्तीय स्वीकृति न लेने, खरीदे गए सामान को स्टॉक पंजिका में दर्ज न किए जाने, वाहन स्टैंड की वसूली समय से जमा नहीं किए जाने, PFMS से किए गए भुगतान संबंधी PPA पर नगर पालिका अध्यक्ष का हस्ताक्षर नहीं कराने जैसे कई आरोप लगाए गए हैं, जिनकी विभाग से जांच कराई जा रही है।

2 मंत्रियों पर भारी पड़े थे EO
करीब 7 साल से बलिया नगर पालिका के EO के पद पर तैनात दिनेश कुमार योगी सरकार के पहले कार्यकाल में 2 मंत्रियों पर भारी पड़े थे। लंबे समय से EO और पालिका अध्यक्ष अजय कुमार के बीच संबंध ठीक नहीं हैं। दोनों कई बार सार्वजनिक रूप से एक-दूसरे पर गंभीर आरोप तक लगा चुके हैं। इस जंग में शहर का विकास भी बाधित है। पानी की सप्लाई, सड़कों की हालत आदि लंबे समय से खराब है।

सूत्रों की मानें तो पिछली भाजपा सरकार में मंत्री रहे तत्कालीन नगर विधायक आनंद स्वरूप व फेफना के तत्कालीन विधायक व मंत्री उपेंद्र तिवारी ने दिनेश विश्वकर्मा के खिलाफ शासन को पत्र लिखा था। इसको संज्ञान में लेते हुए अफसरों ने दिनेश कुमार का स्थानान्तरण गैर जनपद कर दिया। हालांकि कुछ दिनों बाद ही उन्होंने दोबारा बलिया नगर पालिका का कार्यभार संभाल लिया।