बलिया में बर्निंग ट्रेन बनने से बची डाउन सद्भावना एक्सप्रेस:ब्रेक जाम होने से पहिए में लगी आग, काफी कोशिश के बाद आग पर पाया गया काबू

बलिया9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बलिया में बर्निंग ट्रेन बनने से बची डाउन सद्भावना एक्सप्रेस - Dainik Bhaskar
बलिया में बर्निंग ट्रेन बनने से बची डाउन सद्भावना एक्सप्रेस

बलिया में फेफना-वाराणसी रेलखंड पर चितबड़ा गांव रेलवे स्टेशन के पास शनिवार को डाउन सद्भावना एक्सप्रेस बर्निंग ट्रेन बनने से बच गयी। हालांकि इसको लेकर काफी देर तक ट्रेन में सवार यात्रियों में खलबली मची रही। काफी प्रयास के बाद आग शांत होने के बाद ट्रेन बलिया पहुंची तो रेल इंजीनियरों ने छानबीन कर आगे के लिये रवाना किया।

किसी के चेन खींचने पर रुकी थी ट्रेन
दिल्ली से चलकर रक्सौल तक जाने वाली 14016 डाउन सद्भावना एक्सप्रेस गाजीपुर रेलवे स्टेशन पर दोपहर बाद रवाना हुई। ट्रेन गाजीपुर जनपद के ताजपुर डेहमा रेलवे स्टेशन से गुजर रही थी। तभी कुछ लोगों ने चेनपुलिंग कर दिया। इसके बाद ट्रेन का ब्रेक जाम हो गया। हालांकि ट्रेन चालक ब्रेक को ठीक कर गाड़ी लेकर आगे के लिए रवाना हो गए।

आसपास के लोगों ने देखी आग की लपटें
सूत्रों की माने तो ब्रेक पहिया को पकड़ा रह गया लिहाजा चितबड़ा गांव रेलवे स्टेशन से कुछ दूर पहले एस-1 बोगी के नीचे धुंआ व आग की लपटें निकलने लगी। यह देख रेल पटरी के आसपास के कुछ लोगों ने शोर मचाया तो चालक व गार्ड को इसकी जानकारी हो सकी। इसके बाद गाड़ी को चितबड़ा गांव रेलवे स्टेशन पर रोक लिया गया।

फायर एक्सटिंग्विशर का चालक ने किया इस्तेमाल
डिब्बे में सवार अधिकांश यात्री भयभीत होकर नीचे उतर गए। बताया जाता है कि चालक ने फायर एक्सटिंग्विशर से आग पर काबू पाया। इसके बाद रेलगाड़ी बलिया रेलवे स्टेशन पर पहुंची तो स्टेशन मास्टर मनोज तिवारी के साथ ही कैरेज एंड ड्रेनेज की टीम ने जांच-पड़ताल किया। इसके बाद ट्रेन को आगे के लिये रवाना किया गया।

तीन घंटे देरी से पहुंची थी गाड़ी
डाउन सद्भावना एक्सप्रेस शनिवार को अपने निर्धारित समय से करीब तीन घंटे देरी से पहुंची। रेल विभाग के कर्मचारियों की माने तो सद्भावना एक्सप्रेस का निर्धारित समय बलिया रेलवे स्टेशन पर सुबह के 11.50 बजे है। हालांकि शनिवार को यह गाड़ी करीब तीन घंटे से देर से दोपहर बाद 3.20 बजे पहुंची। चितबड़ा गांव में यह ट्रेन करीब 25 मिनट तक तथा बलिया में 10 मिनट तक खड़ी रही।