शादी की जिद करने पर प्रेमिका को मार डाला:बलिया में 4 जनवरी को नहर में मिला था युवती का शव, प्रेमी गिरफ्तार

बलिया7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। उससे पूछताछ के आधार पर पुलिस ने सोमवार को इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। उससे पूछताछ के आधार पर पुलिस ने सोमवार को इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया।

बलिया के उभांव थाना क्षेत्र के चौकियां निवासी आरती की हत्या उसके प्रेमी ने ही की थी। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। उससे पूछताछ के आधार पर पुलिस ने सोमवार को इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया। एएसपी विजय त्रिपाठी ने बताया कि चार जनवरी को उभांव थाना क्षेत्र के अवयां पावर हाउस के पास नहर में युवती की लाश मिली थी। उसकी पहचान चौकियां निवासी शिवनरायन राजभर की पुत्री आरती के रूप में हुई।

मामले में शिवनारायन की तहरीर पर हत्या का केस दर्ज कर जांच की जा रही थी। इसी बीच संदेह के आधार पर उभांव थाना क्षेत्र के रामपुर कानूनगोयान निवासी चंचल राजभर पुत्र सूरज राजभर को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो घटना का खुलासा हो गया।

फुफेरी बहन की ननद से था प्रेम प्रसंग

पुलिस के अनुसार, आरोपी चंचल ने बताया कि मेरी बुआ की लड़की रीना की ससुराल चौकिया में है। जहां मै अक्सर आता-जाता था। इस दौरान फुफेरी बहन रीना की ननद आरती से प्रेम सम्बंध हो गया। बातचीत करने के लिये मैने एक मोबाइल व सिम कार्ड आरती को चोरी से दे दिया था। इसी बीच मृतका आरती को उसकी छोटी बहन पूजा व भाई गुडडू ने बात करते हुए पकड़ लिया था। इसके बाद बहन व भाइयों में मारपीट हुई थी।

प्रेमिका ने मिलने के लिए बुलाया था

हालांकि इसके बाद भी वह मौका मिलने पर चोरीछिपे मुझसे बात करती थी। आरोपी ने पुलिस को बताया है कि दो जनवरी को मै मुम्बई से गांव के लिये निकला जिसकी जानकारी आरती को हो गयी थी। तीन जनवरी को गोदान एक्सप्रेस से बिल्थरारोड उतरा तो आरती मिलने के लिए जिद करने लगी। मैंने मना किया तो वह जान देने की धमकी देने लगी। इसके बाद रात करीब 10.30 बजे आरती ने मुझे फोन कर अवाया पावर हाउस के पीछे बगीचे में मिलने के लिए बुलाया।

शादी की जिद कर रही थी प्रेमिका

हम दोनों बड़ी नहर की तरफ से खेतों में होते हुए एक छोटी माइनर तक पहुंच गए। इसके बाद मृतका मुझसे शादी करने की जिद करने लगी। मैने कहा कि जहां पर शादी तय है उसी से शादी कर लो, मगर वह मेरे से शादी करने की जिद करने लगी। काफी समझाने के बाद भी मानने को तैयार नहीं हुई तो मै उठकर जाने लगा। इस दौरान छिनाझपटी में हम दोनों नहर के गढढें चले गए।

पानी में मुंह दबाकर की हत्या

नी में गिरते ही मैने उसके मुंह को जबरदस्ती पानी मे दबा दिया। कुछ देर बाद उसकी सांस रुक गयी। मैं घबरा गया तथा मौके से आरती के द्वारा लाया गया टिफिन, चप्पल को नहर से थोड़ा आगे फेंक दिया। उसके मोबाइल के सिम को भागते समय कहीं तोड़कर फेंक दिया । पुलिस का कहना है कि मुम्बई भागने की फिराक में था तभी पुलिस ने दबोच लिया।

आरती का हो गया था छेका

मृतका आरती की शादी तय होने के बाद छेका भी हो चुका था। कुछ माह बाद परिजनों ने विवाह की तिथि निर्धारित की गयी थी। इसकी तैयारी भी घरवाले कर रहे थे। इसी बीच उसकी हत्या होने से हर कोई हैरान था।