बलिया में शिवपाल यादव बोले:हम सपा से विलय को तैयार, हमारे साथ वालों को टिकट मिले

बलिया9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिवपाल यादव ने प्रेसवार्ता के दौरान बयान दिया। - Dainik Bhaskar
शिवपाल यादव ने प्रेसवार्ता के दौरान बयान दिया।

बलिया में प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने कहा कि हम सपा से विलय को तैयार हैं। हमारे साथ वालों को टिकट मिलना चाहिए। उन्होंने भाजपा सरकार भी हमला बोला। कहा कि प्रदेश के हालात ठीक नहीं है। सरकार के सब वादे झूठे हैं।

भाजपा ने कहीं भी विकास नहीं किया, सिर्फ धर्म और जाति पर राजनीति की है। गरीबी, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार बढ़ा है। ओवैसी से मुलाकात पर कहा कि शिष्टाचार मुलाकात थी। यह सारी बातें उन्होंने शनिवार को प्रेसवार्ता के दौरान कहीं।

रोजगार की तलाश में भटक रहे युवा

योगी सरकार पर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का श्रेय लेने का आरोप लगाते हुए कहा कि सपा सरकार के दौरान ही इसके निर्माण के लिए 60 फीसद जमीन ले ली गई थी। प्रसपा प्रमुख ने महंगाई, कानून-व्यवस्था और किसानों के मुद्दे पर योगी सरकार को घेरते हुए कहा कि किसान परेशान हैं। युवा रोजगार की तलाश में भटक रहे हैं, लेकिन ये सरकार इन समस्याओं को दरकिनार कर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का श्रेय लेने में लगी है।

जनता भाजपा के कुशासन से त्रस्त

कोरोना महामारी का जिक्र करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण के दौरान प्रदेश की स्थिति को शायद कोई भूला हो। अस्पतालों में मरीजों के लिए बेड नहीं थे और न ही ऑक्सीजन की व्यवस्था थी।​​​​​​​ शिवपाल ने कहा कि सत्ता परिवर्तन जरूरी हो गया है क्योंकि जनता भाजपा के कुशासन से त्रस्त हो चुकी है।

यही कारण है कि मैं जनता की समस्याओं को जानने और सूबे की योगी सरकार के छलावे से जनता को अवगत कराने के लिए यात्रा पर निकला हूं। साथ ही उन्होंने कहा कि इस यात्रा का समापन आगामी 30 नवंबर को अयोध्या में रामलला के दर्शन कर करेंगे।

सिक्कों से तौले गए शिवपाल

शक्रवार को प्रसपा अध्यक्ष परिवर्तन रथयात्रा लेकर जिले में पहुंचे थे। उन्होंने पहले चैनराम बाबा को नमन किया और फिर जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि बागी बलिया में जो शक्ति है, वह अतुलनीय है। महासचिव नीरज सिंह गुड्डू ने शिवपाल यादव को सिक्कों से तौला।

सहतवार में हुई जनसभा में हजारों समर्थकों का हुजूम उमड़ा था।​​​​​​​ शिवपाल यादव का भव्य स्वागत किया गया। समर्थकों ने 'जय कन्हैया लाल की, यूपी है शिवपाल की' के नारे लगाए। पूर्व मंत्री शादाब फातिमा ने तो यहां तक कह दिया कि अबकी सूबे की सत्ता की चाभी प्रसपा प्रमुख के पास है।