• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Ballia
  • The Member Honored The EO By Accusing Him Of Corruption: Forcibly Garlanded After Giving Certificate In Ballia, Then Put A Black Vessel On The Face, Police Detained

भ्रष्टाचार का आरोप लगाकर सभासद ने ईओ को किया सम्मानित:बलिया में सर्टिफिकेट देकर जबरन माला पहनाई फिर चेहरे पर काली पोत दी

बलिया5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सभासद ने भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए अधिशासी अधिकारी (ईओ) जबरदस्ती सम्मानित किया। - Dainik Bhaskar
सभासद ने भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए अधिशासी अधिकारी (ईओ) जबरदस्ती सम्मानित किया।

बलिया के ददरी मेले में बने नगरपालिका के अस्थायी कार्यालय में गुरुवार को अजीब वाकया देखने को मिला। दोपहर को अचानक पहुंचे सभासद ने भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए अधिशासी अधिकारी (ईओ) जबरदस्ती सम्मानित किया। भ्रष्टाचार का सर्टिफिकेट देने के साथ ही ईओ को माला पहनाई। इसके बाद ईओ के चेहरे पर चूना काली पोत दी। हंगामा देख पुलिस ने सभासद को पकड़कर वहां से हटाया।

नगर पालिका परिषद के वार्ड नंबर-16 के सभासद विकास कुमार पांडेय पिछले कुछ दिनों से भ्रष्टाचार को लेकर ईओ के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं। उन्होंने पिछले मंगलवार को जनपद आए मंडलायुक्त विजय विश्वास पंत से पालिका में हो रहे भ्रष्टाचार की शिकायत की थी। उन्होंने कहा था कि स्वच्छ सर्वेक्षण वर्ष 2018 में मंडल में उनका वार्ड अव्वल आया था।

हर महीने लाखाें के गबन का आरोप

आरोप है कि तीन वर्ष बाद भी इनाम की राशि 11.5 लाख रुपये नगर पालिका अध्यक्ष और ईओ ने नहीं दी। सार्वजनिक स्थानों पर कूडे़दान लगाने, फर्जी कोटेशन बनाकर फर्जीवाड़ा किया गया है। सार्वजनिक शौचालयों को भी कागजों पर लागू किया गया। जो धरातल पर सिर्फ आधा-अधूरा दिख रहा है।

आरोप है कि ईओ और चेयरमैन ने नाला निर्माण के नाम पर वित्तीय अनियमितिता की है। चूना छिड़काव के नाम पर प्रतिमाह लाखों रुपये का गबन किया जा रहा है। जलकल एवं सफाई संविदाकर्मियों का वेतन चार माह से रोका गया है। उन्होंने मामले में ईओ पर कार्रवाई की मांग की थी।

ईओ ने आरोपों को निरर्थक और निराधार बताया

इसी मामले को लेकर विकास पांडेय ददरी मेले में बने पालिका के अस्थायी कार्यालय पहुंचे। जहां अपने साथ लाए सर्टीफिकेट को लेकर ईओ को देने लगे। इसके बाद ईओ को जबरदस्ती माला पहनाई। वहीं, ईओ ने सभासद के आरोपों को निरर्थक और निराधार बताया है। उनके दुर्व्यवहार के खिलाफ विधिक कार्रवाई करने की बात कही है।

खबरें और भी हैं...