बलरामपुर साइबर सेल ने आशीष की दीपावली को बनाया सुनहरा:शिकायत के 1 महीने बाद वापस मिली रकम, पीड़ित ने कहा Thank you Police

बलरामपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ठगी के शिकार हुए आशीष सिंह ने रुपए वापस मिलने के बाद बलरामपुर पुलिस को धन्यवाद कहा है। - Dainik Bhaskar
ठगी के शिकार हुए आशीष सिंह ने रुपए वापस मिलने के बाद बलरामपुर पुलिस को धन्यवाद कहा है।

बलरामपुर में बीते 23 सितंबर को कोतवाली देहात इलाके के बेल्हा (सिसई) गांव के रहने वाले आशीष सिंह ने एसपी कार्यालय में लिखित शिकायत देकर अपने बैंक खाते से 31166 रुपये की धोखाधड़ी करके निकाल लिए जाने की शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत के बाद पुलिस अधीक्षक हेमन्त कुटियाल के आदेश पर पूरे मामले की जांच साइबर सेल और क्राइम ब्रांच को सौंप दी गयी थी। अब दीपावली से पहले साइबर सेल ने पीड़ित आशीष के ठगी के रूपए वापस दिला दिए हैं।

कैसे हुई थी ठगी?

पीड़ित अशीष सिंह ने बताया कि उनको फोन-पे कंपनी का अधिकारी बताने वाले व्यक्ति का काल आया था। उसने पीड़ित को बढ़िया ट्रांजिक्शन करने के एवज में कंपनी द्वारा 5250 रुपये कैश बैक देने की बात कही गई। इस दौरान मोबाइल बैंकिंग के जरिये पैसे को खाते में भेजने के नाम पर पीड़ित आशीष सिंह से उक्त व्यक्ति ने मोबाइल पर आए ओटीपी की जानकारी हासिल कर ली। पलक झपकते ही अशीष सिंह के खाते से 31166 रुपये की ठगी कर ली गई।

साइबर सेल ने ठगी के रुपये कराए वापस

साइबर अपराधों के अनावरण व रोकथाम के लिए तेजी से काम करने वाली साइबर सेल की टीम ने सर्विलांस सेल की मदद से महज 1 माह और 9 दिन में ही साइबर ठग को ढूंढ निकाला। पीड़ित ठगी के शिकार हुए आशीष सिंह को उनके खाते से उड़ाए गए 31166 रुपये में से 26220 रुपये वापस कराया।

पीड़ित ठगी के शिकार हुए आशीष सिंह को उनके खाते से उड़ाए गए 31166 रुपये में से 26220 रुपये वापस कराया।
पीड़ित ठगी के शिकार हुए आशीष सिंह को उनके खाते से उड़ाए गए 31166 रुपये में से 26220 रुपये वापस कराया।

ठगी के रुपये वापस पाकर पीड़ित ने बलरामपुर पुलिस को कहा धन्यवाद

ठगी के शिकार हुए आशीष सिंह ने रुपए वापस मिलने के बाद बलरामपुर पुलिस को धन्यवाद कहा है। उन्होंने कहा कि खाते से जब पैसे निकल गए थे तो मुझे इस बात की कोई उम्मीद नहीं थी कि अब कभी यह रुपए मुझे वापस मिलेंगे। लेकिन पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल के आदेश पर साइबर सेल की टीम ने बेहतर काम किया है और महज ही कुछ दिनों के भीतर ही मुझे मेरा ठगी का रुपया वापस दिलाया है। यह रुपए वापस मिलने से मेरी दीपावली सुनहरी हो गई है। मैं इन्हीं रुपयों से दीपावली में अपने व अपने परिवार के लिए बेहतर खरीदारी व त्यौहार को बेहतर तरीके से मना सकूंगा।

क्या बोले एसपी हेमंत कुटियाल

पूरे मामले में पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल ने जानकारी देते हुए बताया कि साइबर सेल के प्रभारी गुरुसेन सिंह ने बेहतर काम करते हुए बहुत ही कम दिनों में पीड़ित के रकम वापसी कराई है। ऐसे मामलों में अमूमन शिकायत के बाद भी तकनीकी कारणों के चलते कार्यवाही नहीं हो पाती है। लेकिन विशेष अभियान के तहत साइबर सेल ने बेहतर काम किया है। उक्त मामले में अभी भी आगे की कार्रवाई होनी बाकी है। पकड़े गए व्यक्ति से पूछताछ कर यह पता लगाया जा रहा है कि अभी तक उसने कितने लोगों के साथ ठगी की घटना को अंजाम दिया है।