बलरामपुर पहुंचे राज्य मंत्री पलटूराम:बोले- 33 करोड़ देवी देवताओं में अलग हैं भगवान चित्रगुप्त

बलरामपुर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कायस्थ समाज के लोगों ने मंत्री के साथ कलम-दवात की पूजा कर सुख समृद्धि की कामना की। - Dainik Bhaskar
कायस्थ समाज के लोगों ने मंत्री के साथ कलम-दवात की पूजा कर सुख समृद्धि की कामना की।

बलरामपुर के जिला मुख्यालय पर यम द्वितीया के अवसर पर नगर के मोहल्ला पूरब टोला में स्थित भगवान श्री चित्रगुप्त के मंदिर पर कलम-दवात की सामूहिक पूजा का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि के तौर पर सूबे के सैनिक कल्याण एवं होमगार्ड राज्य मंत्री पलटूराम ने शिरकत की।

पूजा में जुटे कायस्थ समाज के लोगों ने मंत्री के साथ कलम-दवात की पूजा कर सुख समृद्धि की कामना की। चित्रगुप्त मंदिर सभा के अध्यक्ष डॉ. परितोष सिन्हा के नेतृत्व में पुरोहित ने वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच चित्रगुप्त के पूजन के बाद कलम दवात की पूजा कराई।

स्मृति चिन्ह भेंट किया

यम द्वितीया के अवसर पर चित्रगुप्त मन्दिर पर आयोजिय कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे सैनिक कल्याण एवं होमगार्ड राज्यमंत्री व सदर विधायक पलटूराम का डॉ. परितोष सिन्हा सहित पदाधिकारियों ने स्वागत करते हुए स्मृति चिन्ह भेंट किया। मंदिर में पहुंचकर राज्य मंत्री पलटू राम ने भगवान श्री चित्रगुप्त की मूर्ति पर माल्यार्पण कर आशीर्वाद प्राप्त किया।

राज्य मंत्री ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि अपने सनातन धर्म में 33 कोटि देवता हैं लेकिन भगवान श्री चित्रगुप्त सबसे अलग है, ये ऐसे देवता हैं जो सभी के कर्मों का लेखा जोखा रखते हैं । उन्होंने मंदिर सभा से जुड़ने और मंदिर उत्थान के लिए हर संभव मदद का भरोसा दिलाया।

चित्रांश- चित्रांशी ने कलम दवात की पूजा की

मान्यता के मुताबिक पूजन के बाद कायस्थ समाज के लोगों ने फिर से अपनी कलम से लेखनी शुरू की। सभा के मंत्री राधिका प्रसाद श्रीवास्तव ने बताया कि परंपरा के अनुसार भगवान श्री चित्रगुप्त के मंदिर पर अखंड रामायण का पाठ किया गया। यम द्वितीया पर हवन पूजन आरती के बाद मंदिर पर उपस्थित सभी चित्रांश- चित्रांशी ने कलम दवात की पूजा की।

इस दौरान वार्षिक कार्यक्रम का में आय वयय का लेखा जोखा कोषाध्यक्ष लक्षमी प्रसाद श्रीवास्तव ने रखा। इस दौरान संरक्षक डॉ प्रमोद कुमार श्रीवास्तव, आदर्श श्रीवास्तव, आशीष श्रीवास्तव, आलोकित श्रीवास्तव, अजीत श्रीवास्तव, विनय श्रीवास्तव, दिलीप श्रीवास्तव, कृष्ण कुमार माथुर, आदित्य प्रसाद श्रीवास्तव, भानु प्रताप श्रीवास्तव, अमित कुमार श्रीवास्तव, अलिंद मोहन व विनय श्रीवास्तव सहित बड़ी संख्या में चित्रांश चित्रांशी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...