बलरामपुर में खुलेआम हो रहा अवैध बालू का कारोबार:आवाज उठाने वालों की कर दी जाती है हत्या, लोग पहाड़ी बालू को बेचकर कमा रहे लाखों रुपए

बलरामपुर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बलरामपुर में खुलेआम हो रहा अवैध बालू का कारोबार - Dainik Bhaskar
बलरामपुर में खुलेआम हो रहा अवैध बालू का कारोबार

बलरामपुर में यूपी सरकार और स्थानीय प्रशासन के लाख प्रयास के बाद भी खनन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं। जिले के हर्रैया सतघरवा के हे़ंगहा, धोबयनिया, खैराहनिया व आस पास के नालों में धड़ल्ले से बालू का अवैध खनन होता है। खनन माफियाओं के नेटवर्क के आगे प्रशासन नाकाम साबित हो रहा है। सूत्रों की माने तो प्रशासन में शामिल कुछ लोगो की मिली भगत से सफेद रेत का काला कारोबार बहुत बड़े पैमाने पर चल रहा है। अवैध खनन का कारोबार करने वाले लोग पहाड़ी नाले के बालू को बेच कर मालामाल हो रहे हैं।

रात 10 बजे सुबह 8 बजे तक निकाली जाती है बालू

अवैध खनन माफिया दिन मे घूमकर जरुरत मंदों से भाव तय कर पांच हजार से छह हजार रुपया मे प्रति टाली रेट तय करते हैं और रात होते ही ऑर्डर का बालू निकालने के लिए रात दस बजे से लेकर सुबह आठ बजे तक अवैध खनन का खेल चलता रहता है।

कई बार हो चुके हैं हादसे

वहीं इस अवैध खनन से लोगो के रात की नींद हराम हो जाती है। तेज आवाज के साथ दर्जनों ट्रैक्टर ट्रॉलियां गुजरती है जिससे न केवल सड़क खराब होती है अपितु ये हादसों का सबब बन जाते हैं। तराई क्षेत्र में कई ऐसे मामले सामने आए हैं जिसमें इंसान तो इंसान बेजुबान ओ को भी ट्रैक्टर ट्राली उसे कुचल कर मार डाला गया है।

खबरें और भी हैं...