बबेरू में विद्युत विभाग की लापरवाही:खेत में टूटी पड़ी हाईटेंशन विद्युत लाइन, विभाग नहीं दे रहा ध्यान; आए दिन होते हैं हादसे

बबेरू (बांदा)2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बांदा जनपद के कमासिन थाना क्षेत्र अंतर्गत गांव पर जमीन पर टूटे पड़े बिजली की तार से करंट आए दिन हादसे होते रहते हैं, विभाग इस और बिल्कूल भी ध्यान नहीं दे रहा है। इससे ग्रामीणों में भारी आक्रोश है। लोगों ने बिजली विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

आए दिन होते रहते हैं हादसे
मामला कमासिन थाना क्षेत्र के बनकट गांव का है। जहां रोज की भांति गांव के ही रहने वाले किसान अभयराज व रामबाबू गांव के लोगों के साथ अपनी भैंस चराने के लिए ले जा रहे थे। जहां पर जमीन पर टूटी पडी 11,000 हाईटेंशन विद्युत लाइन की चपेट में आने से दो गर्भवती भैंस व गाय और दर्जनों जंगली जानवरों की मौके पर मौत हो गई। भैंसों को तड़पते देख मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने देखा तो विजली लाइन मैन को फोन किया, लेकिन लाइनमैन का फोन नहीं उठा।

अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप
इससे ग्रामीणों ने विद्युत विभाग के लाइनमैन व अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कई बार कहने के बाद भी जर्जर झूमते तारों को बदला नहीं गया। लाइन चल नहीं रही थी, लेकिन बिना चेक किए जबरजस्ती लाइन चलाई गई यदि समय से फोन उठ जाता और जो जानवरों की करंट लगने से मौत हुई है।

खेत में टूटा पड़ा तार।
खेत में टूटा पड़ा तार।

विद्युत लाइन पूरी तरह से जर्जर
वहीं ग्रामीण रामबाबू के द्वारा बताया गया की विद्युत लाइन पूरी तरह से जर्जर है। कई घटनाएं गांव पर हो चुकी है, कई जानवरों की भी मौतें हुई हैं। क्या विद्युत विभाग कोई बड़ा हादसा देखना चाहता है, क्योंकि जंगलों पर खेतों पर बरसात के मौसम पर काम करने के लिए सैकड़ों किसान जाते हैं।

लेकिन इन विद्युत जर्जर तार की वजह से लोग भयभीत रहते हैं कि, कब टूट जाए और कब कोई घटना हो जाए कोई भरोसा नहीं जिससे हम अधिकारियों से मांग करते हैं। यह विद्युत जर्जर तार को हटाकर नई विद्युत लाइन लगाई जाए जिससे खतरा डाला जा सकता है। इस घटना की सूचना विद्युत विभाग वाह राजस्व निरीक्षक लेखपाल पशु चिकित्सक को दे दी गई है।