रामलीला में ताड़का सुबाहु वध व फुलवारी लीला का मंचन:176 वर्षों से हो रहा रामलीला का आयोजन, हजारों की संख्या पर दर्शक मौजूद रहे

बबेरू2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बबेरू कस्बे पर विगत 176 वर्षों से रामलीला का मंचन स्थानीय कलाकार करते हैं। जिसमें इस वर्ष भी श्री रामलीला का मंचन का आयोजन किया गया। जो 16 दिवसीय रामलीला कार्यक्रम रखा गया है। जिसमें आज की रात्रि रामलीला के तीसरे दिन ताड़का सुबाहु वध, फुलवारी लीला, बाजार लीला का सुंदर मंचन कलाकारों ने किया।

मामला बबेरू कस्बे के कमासिन रोड स्थित रामलीला मैदान का है। जहां पर विगत वर्षों की भांति इस वर्ष 176 वा रामलीला का सुंदर मंचन, स्वामी वीर दास बाबा की असीम अनुकंपा से स्थानीय कलाकार एवं बाहरी कलाकारों के द्वारा किया जा रहा है। जिसमें रामलीला के तीसरे दिन रात्रि में ताड़का सुबाहु वध, फुलवारी लीला, बाजार लीला का सुंदर मंचन किया गया है। जिसमें हजारों की संख्या पर दर्शक मौजूद रहे।

वहीं रामलीला पर सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस बल भी लगा रहा। जिसमें राम का अभिनय शिवांश दीक्षित, लक्ष्मण का अभिनय राघव पांडेय, विश्वामित्र का अभिनय चंद्रपाल द्विवेदी,मरीज का अभिनय आदित्य सिंह गौतम, सुबाहु का अभिनय दीपसाल सिंह, जनक का अभिनय राजकमल गुप्ता, सीता का अभिनय रुद्र मिश्रा, इनके द्वारा रामलीला का सुंदर मंचन किया गया हैं।

176 वर्षों से हो आ रहा रामलीला का आयोजन
वही रामलीला समिति के दयाशंकर शर्मा के द्वारा बताया गया कि यह रामलीला का आयोजन 176 वर्षों से बराबर चलता चला आ रहा है। इस रामलीला में स्वामी वीर दास बाबा जी की कृपा से चल रहा है। स्वामी वीर दास बाबा जी ने राम जानकी मंदिर कमासिन रोड़ बबेरू के बगल में जिंदा समाधि लिया हुआ था। आज भी उनकी समाधि बनी हुई हैं, तब से उन्हीं की कृपा और आशीर्वाद से बबेरू कस्बे पर रामलीला पिछले वर्षों की भांति यहां के समिति के पदाधिकारियों के द्वारा कराते चले आ रहे हैं।

इस मौके पर रामलीला समिति के प्रबंधक प्रकाश नारायण चतुर्वेदी, पूर्व प्रबंधक बुद्ध प्रकाश अग्निहोत्री, दिलीप सोनी,नीरज पांडेय,जगत नारायण चतुर्वेदी, प्रेम नारायण चतुर्वेदी, सहित हजारों की संख्या पर दर्शक मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...