मां के जयकारों से गूंजे बांदा के मंदिर:सुबह से ही श्रद्धालुओं की लगने लगी लाइन, पूजा-अर्चना कर मांगी मनोकामना

बांदा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मंदिरों के बाहर सुबह से ही लाइन लगने लगी थी। - Dainik Bhaskar
मंदिरों के बाहर सुबह से ही लाइन लगने लगी थी।

बांदा में नवरात्रि के पहले दिन महेश्वरी देवी मंदिर व काली देवी मंदिर में सुबह से ही भक्तों की भीड़ लगी रही। भक्तों ने मां की पूजा अर्चना की। सभी मंदिर मां के जयकारे गूंजते उठे। गुरुवार को मां शैलपुत्री की पूजा होती है। मां के दिव्य स्वरूप का ध्यान हमें निष्काम भक्ति का मर्म समझाता है। यह हमें दोषों व दुर्गुणों से मुक्ति प्रदान कर जीवन को ‌र्स्वणिम आभा से आलोकित करता है। यह हमारे अंदर निहित कुसंस्कारों व निकृष्ट विचारों को खत्म कर हमें पवित्र विचारों से युक्त करता है।

मंदिरों में लगी रही भीड़

मां का ध्यान हमारी जीवन शक्ति का संव‌र्द्धन करता है। यह हमें समय व संसाधनों के सदुपयोग की कला सिखाता है। ऐसी मां की उपासना के लिए मां के भक्तों की भीड़ मंदिरों में देखते ही बनी। शहर के मां महेश्वरी देवी और काली देवी मंदिर में भक्तों का जमावड़ा रहा। लोग मां के जयकारे लगाते रहे। महेश्वरी देवी में विभिन्न संस्कारों के तहत ढोल ताशे के साथ नाचे-गाते मंदिर पहुंची। इसी प्रकार मां विन्ध्यवासिनी देवी, बेंदा की काली देवी समेत जिले भर के सभी देवी मंदिरों में भक्तों का जमावड़ा रहा।

खबरें और भी हैं...