मौर्य के बाद एक और सपा नेता का विवादित बयान:बृजेश प्रजापति बोले-रामचरितमानस में कुछ आपत्तिजनक पंक्तियां, लगे बैन

बांदा10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य के बाद अब एक और समाजवादी के नेता ने धार्मिक ग्रंथ रामचरितमानस को लेकर विवादित बयान दिया है। बयान देने वाले सपा नेता पूर्व विधायक ब्रजेश प्रजापति हैं। इन्होंने स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान का समर्थन किया है।

पूर्व विधायक ब्रजेश प्रजापति का कहना है कि रामचरितमानस में कुछ आपत्तिजनक पंक्तियां हैं। जिन्हें सरकार को हटा देना चाहिए या रामचरित मानस को बैन कर देना चाहिए।उन्होंने कहा कि रामचरितमानस में जातिगत भेदभाव नजर आता है। कुछ चौपाइयों से आदिवासी, दलित, पिछड़े समाज और महिलाओं को ठेस पहुंचती है। अपने इस बयान के साथ सपा के पूर्व विधायक ने अपने सोशल मीडिया पर रामचरितमानस की एक चौपाई को हाईलाइट करते हुए शेयर किया है। इसके कैप्शन में उन्होंने लिखा ‘इस पर हमारा भी विरोध है।’

भाजपा से विधायक रह चुके हैं ब्रजेश

बता दें कि बृजेश प्रजापति भारतीय जनता पार्टी से तिंदवारी विधानसभा के विधायक रह चुके हैं। उनके राजनैतिक गुरु स्वामी प्रसाद मौर्य के भाजपा छोड़ने के बाद बृजेश प्रजापति ने भी भाजपा छोड़ दी थी और समाजवादी पार्टी के टिकट से तिंदवारी से चुनाव लड़े थे। इसमें उनकी हार हुई थी।

खबरें और भी हैं...