• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Banda
  • Children's Future In Darkness In Primary Schools In Banda: School Running Due To Teachers, Rotten Potato Vegetable Being Served In MDM

बांदा...प्राथमिक स्कूलों में अंधकार में बच्चों का भविष्य:शिक्षामित्रों के भराेसे चल रहा स्कूल, MDM में परोसी जा रही सड़े आलू की सब्जी

बांदा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्रामीणों का आरोप है कि काफी दिनों से स्कूल में बच्चों को मेन्यू के हिसाब से फल, दूध और खाना नहीं दिया जा रहा है। - Dainik Bhaskar
ग्रामीणों का आरोप है कि काफी दिनों से स्कूल में बच्चों को मेन्यू के हिसाब से फल, दूध और खाना नहीं दिया जा रहा है।

बांदा के प्राथमिक स्कूलों में पढ़ाई भगवान भरोसे चल रही है जिससे बच्चों का भविष्य अंधकार में है। शिक्षक अपनी मनमर्जी से स्कूल चला रहे हैं। कहीं शिक्षक समय एक-दो घंटे देरी से स्कूल पहुंच रहे हैं तो कहीं पर शिक्षामित्र के भरोसे ही स्कूल चल रहा है। बच्चों को MDM में सड़े आलू की सब्जी भी परोसी जा रही है।

मामला कमासिन क्षेत्र के स्कूलों का है। बीरा के प्राथमिक विद्यालय बनकट में तीन शिक्षक तैनात हैं। आरोप है कि प्रधानाध्यापक मनीष भदौरिया स्कूल की सारी जिम्मेदारी शिक्षामित्र के हवाले कर खुद कभी स्कूल नहीं आते हैं। प्रधानाध्यापक के स्कूल में गैरहाजिर रहने का सिलसिला काफी दिनों से चला आ रहा है।

सहायक अध्यापक के आने-जाने का भी कोई समय निश्चित नहीं है। प्रधानाध्यापक का एक या दो दिन सिर्फ हाजरी लगाने आते हैं।
सहायक अध्यापक के आने-जाने का भी कोई समय निश्चित नहीं है। प्रधानाध्यापक का एक या दो दिन सिर्फ हाजरी लगाने आते हैं।

उधर, सहायक अध्यापक के आने-जाने का भी कोई समय निश्चित नहीं है। प्रधानाध्यापक का एक या दो दिन सिर्फ हाजरी लगाने आते हैं। इसके अलावा यहां पर मिडडे मील (MDM) मेन्यू के हिसाब से नहीं बनाया जाता है।

स्कूलों में टॉयलेट भी बदहाल पड़े हुए हैं।
स्कूलों में टॉयलेट भी बदहाल पड़े हुए हैं।

प्रधानाध्यापक का वेतन रोकने के निर्देश

खंड शिक्षाधिकारी जगत सिंह राजपूत ने सहायक अध्यापक राहुल से जानकारी लेकर प्रधानाध्यापक का वेतन रोककर आवश्यक कार्रवाई की बात कही है। यही हाल औदहा के प्राथमिक विद्यालय अमिलहा पुरवा का है। ग्रामीणों का आरोप है कि काफी दिनों से स्कूल में बच्चों को मेन्यू के हिसाब से फल, दूध और खाना नहीं दिया जा रहा है। खाने में सडे़ आलू की सब्जी बनाई जा रही है। यही हाल प्राथमिक विद्यालय मुसीवां के सौहारा पुरवा का है।