बांदा में अनाथ बच्चों ने DM से मांगी मदद:बीमार बहन को लेकर पहुंची कलेक्ट्रेट, हालत देख DM ने अपनी गाड़ी से भेजा अस्पताल

बांदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बांदा में गंभीर बीमारी से पीड़ित मासूम बच्ची आज अपनी बहन के साथ DM ऑफिस पहुंची। यहां उसने DM से मुलाकात कर मदद की गुहार लगाई। दोनों ने बताया, उनके मां-बाप का देहांत हो गया है। वह अनाथ हैं। अभी अपनी बुआ के यहां रह रहे हैं। DM ने उनकी समस्या सुनने के बाद इलाज के लिए अपनी गाड़ी से जिला अस्पताल भेजा।

विकासखंड जसपुरा के ग्राम पंचायत तंगा मऊ की रहने वाली वंदना ने बताया, 4 साल पहले मेरे पिता की मौत हो गई थी। 2 वर्ष पहले एक्सीडेंट में मेरी मां की भी मौत हो गई। तब से ही मेरी छोटी बहन गंभीर बीमारियों से ग्रसित हो गई। इलाज के लिए पूर्व में भी DM द्वारा जिला अस्पताल में भर्ती करवाकर इलाज कराया गया था।

जनपद चिकित्सालय में 10 दिन रख कर इलाज के नाम पर मात्र औपचारिकता पूरी की गई थी। नतीजा, मेरी बहन उसी रोग से पुनः पीड़ित हो गई। इसलिए पुनः जिलाधिकारी कार्यालय आकर मैंने मदद की गुहार लगाई। जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने स्थिति को गंभीरता से लेते हुए तत्काल संज्ञान लेकर अपनी एस्कॉर्ट गाड़ी से पीड़ित बच्ची और उसकी संरक्षक को तत्काल इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा।

इसी क्रम में पीड़ित बच्ची की बड़ी बहन वंदना ने बताया कि मां के एक्सीडेंट क्लेम का भुगतान का पैसा जो कि दादी के साथ संबंधित खाते में पड़ा हुआ है, इसका भुगतान ब्रांच बैंक मैनेजर द्वारा नहीं किया जा रहा है, जिसके कारण भी हम अपनी बहन के साथ पीड़ा झेलने को विवश हैं।