बांदा में ठोकिया गैंग के 13 सदस्यों को उम्रकैद:15 साल बाद कोर्ट ने सुनाई सजा, एसटीएफ के 6 जवान समेत मुखबिर की हुई थी हत्या

बांदा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बांदा कोर्ट ने ठोकिया गैंग के 13 सदस्यों को उम्रकैद की सजा सुनाई है। कोर्ट ने यह फैसला 15 साल बाद सुनाया है। दरअसल, 2007 में ठोकिया गैंग ने घात लगाकर एसटीएफ के जवानों पर हमला किया था। इसमें 6 जवानों समेत एक मुखबिर की मौत हो गई थी।

घटना फतेहगंज थाना क्षेत्र के जंगल क्षेत्र की है। 2007 में ददुआ की मौत के बाद ठोकिया गैंग ने बदला लेने का ऐलान किया था। 7 जुलाई 2007 को ठोकिया गैंग ने एसटीएफ के 6 जवानों पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। बम से उनकी गाड़ी को उड़ा दिया।

पुलिस ने 16 आरोपी किए थे नामजद
इसमें 6 जवानों समेत एक मुखबिर की भी मौत हो गई। मामले में पुलिस ने 16 लोगों को नामजद किया था। इनमें से तीन आरोपियों की मौत हो चुकी है। इनका सरदार ठोकिया भी मारा जा चुका है। गुरुवार को न्यायाधीश डकैती माननीय नूपुर ने बचे हुए 13 आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।

इन आरोपियों को सुनाई गई सजा

  • धर्मेंद्र प्रताप सिंह उर्फ नरेंद्र
  • धर्मेंद्र भदोरिया उर्फ भैया
  • रामबाबू पटेल
  • किशोरी पटेल
  • कल्याण सिंह पटेल
  • धनीराम शिव नरेश पटेल
  • नत्थू पटेल
  • अशोक पटेल उर्फ अंग्रेज पटेल
  • चुनुबाद पटेल
  • देव शरण पटेल
  • ज्ञान सिंह
  • शंकर सिंह पटेल
  • राम प्रसाद विश्वकर्मा