सेंट मैरिज स्कूल में बच्चों की सुरक्षा पर पैरेंट्स मीटिंग:बच्चों के अभिभावकों ने स्कूल से 'फादर' हटाओ का नारा लगाया

बांदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सेंट मैरिज में हंगामा करते अभिभावक - Dainik Bhaskar
सेंट मैरिज में हंगामा करते अभिभावक

बांदा में सेंट मैरिज स्कूल के आरटीओ और स्कूल के 'फादर' ने अभिभावकों की मीटिंग बुलाई। बच्चों की सुरक्षा पर बात की। इससे पहले की मीटिंग ठीक तरह से चलती। इससे पहले अभिभावकों ने स्कूल से 'फादर' हटाओ का नारा लगाने लगे। मीटिंग में अपना विरोध देख 'फादर' मीटिंग छोड़कर चले गए।

अभिभावकों ने कोर्स पूरा किए बिना ही परीक्षा कराने का आरोप लगाया। आरोप लगया कि 'फादर' आए दिन स्कूल में नए-नए कानून बना रहे हैं। जिससे अभिभावकों को परेशानी होती है। जो बच्चे अपने वाहनों से आते हैं, उनको सड़क पर खड़ा कराया जाता है। जिससे कोई बड़ा हादसा हो सकता है। अभिभावकों का विरोध देखते हुए फादर आरटीओ को अकेला छोड़कर मन से चले गए।

स्कूल में बच्चों के आने-जाने की व्यवस्था पर मीटिंग बुलाई थी
अभिभावक बिंदु कुमार सिंह ने कहा, "आज स्कूल में बच्चों को लाने ले जाने की व्यवस्था को लेकर मीटिंग बुलाई गई थी। जिसमें जिसमें यह कहा गया कि जिनके बच्चे निजी वाहनों से आ रहे हैं। उनको गेट के बाहर रखा जाए। गार्जियंस के साथ आ रहे हैं, उनको भी गेट से ही बाहर कर दिया जाए।"

"10 किलो का बैग टांग के नहीं चल सकते। अगर गेट के बाहर छोड़ते हैं, तो किसी घटना के घटने की संभावना बनी रहती है। स्कूल प्रशासन का रवैया ठीक नहीं है। जब हम लोगों ने अपनी बात को रखना चाहा, तो फादर उठकर चले गए।"

"ट्रांसपोर्टेशन की व्यवस्था यहां ठीक नहीं है। हम लोग खुद नहीं चाहते हैं कि हमारे बच्चे निजी वाहनों में आए। स्कूल प्रबंधन के पास कोई व्यवस्था नहीं है। जिससे मजबूरी में हम लोगों को खुद ही छोड़ने आना पड़ता है।

अभिभावकों ने फादर हटाओ की आवाज बुलंद की
आरटीओ शंकर सिंह ने बताया, "आज सेंट मैरिज स्कूल में बच्चों की सुरक्षा को लेकर मीटिंग बुलाई थी, जो बच्चे ई-रिक्शा या फिर अन्य वाहनों से आते हैं। जो सुरक्षित घर पहुंचाया जाए, उनकी सुरक्षा को लेकर अभिभावकों को बुलाया गया था। बहुत से बच्चे निजी वाहनों से आते हैं। जो सड़क किनारे लगा देते हैं जिससे दुर्घटना होने की अधिक संभावनाएं होती हैं।"

खबरें और भी हैं...