पैलानी में तीन दिनों की बारिश से लोग बेहाल:चार से ज्यादा गिरे कच्चे मकान, तीन घायल; टूटी पुलिया से ग्रामीण कर रहे आवागमन

पैलानी (बांदा)2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पैलानी क्षेत्र में बीते 3 दिनों से लगातार बारिश हो रही है। इससे किसानों को राहत तो मिली है। लेकिन जिनका कच्चा मकान है, वे लोग बेबस हो गए हैं। इन लोगों का कच्चा मकान गिर गया है। जिससे गरीब असहाय लोग खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर हैं।

साड़ी अमान डेरा संपर्क मार्ग की पुलिया जोरदार बारिश के चलते ध्वस्त हो गई। यहां पर आधा दर्जन गांव साड़ी, अमान डेरा, उसराडेरा ,बगैचा डेरा के ग्रामीणों का रास्ता अवरुद्ध हो गया है। वहीं जान जोखिम में डालकर ग्रामीण आवागमन कर रहे हैं। इन गांव के ग्रामीणों के मकान तेज बारिश के चलते गिर गए हैं। इस दौरान कई लोग घायल भी हो गए।

चार से ज्यादा लोगों के कच्चे मकान बारिश में ढह गए
गांव के निवासी शिवबरन का मकान बीती रात गिर गया। इससे उसकी पत्नी उमा देवी का पैर टूट गया। बच्चे भी दीवार में दब गए। परिजनों ने आनन-फानन में निकालकर स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया। वहीं खपटिहाकला गांव के विंदा श्रीवास, गुड्डू सिंह राठौर, गंगाराम प्रजापति, राजन शास्त्री आदि का मकान गिर गया है।

ये पीड़ित का घर है। तेज बारिश के चलते कच्चा मकान गिर गया है।
ये पीड़ित का घर है। तेज बारिश के चलते कच्चा मकान गिर गया है।

पोती व दादी दोनों किसी तरह घर के बाहर आए
विंदा श्रीवास की पत्नी चुंकी ने बताया कि मेरी सास सुखदेइया (55) व मेरी बेटी गुड़िया (13) कच्चे मकान में सो रहे थे। तभी बीती रात जोरदार बारिश से भरभरा कर मकान गिर गया। किसी तरह दोनों जान बचाकर घर के बाहर आए। मेरी सास गिरता मकान देखकर बेहोश हो गईं। अब हम लोग खुले में रहने को मजबूर हैं। मजदूरी करके घर चलाते थे। इतनी जल्दी फिर से घर बनाना आसान नहीं है।

प्रधान ने पुलिया निर्माण में घटिया सामग्री बताया
ग्राम प्रधान सांडी पतराखन निषाद ने बताया कि आठ साल पहले लोक निर्माण विभाग ने पुलिया के निर्माण में घटिया सामग्री लगाई थी। इस वजह से बारिश के चलते पुलिया ढह गई। अब ऐसे में आधा दर्जन गांव के ग्रामीण ​​​​​​जान जोखिम में डालकर आवागमन करने को मजबूर हैं।

पुलिया टूट जाने से ग्रामीणों का आवागमन मुश्किल हो गया है।
पुलिया टूट जाने से ग्रामीणों का आवागमन मुश्किल हो गया है।

पीड़ितों को दिलाया जाएगा उचित मुआवजा
इस बाबत तहसीलदार पैलानी रामचन्द्र ने बताया कि कच्चे मकानों की गिरने की सूचना मिली है। लेखपालों की टीम भेजकर इन मकानों का सर्वे कराया जाएगा। दैवीय आपदा के तहत इन पीड़ितों को आर्थिक मदद दिलाई जाएगी। जांच पड़ताल कराई जा रही है।

खबरें और भी हैं...