पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की सौगात:बाराबंकी के व्यापारी और किसान उत्साहित, बोले- उद्योग की बढ़ेंगी संभावनाएं

बाराबंकी7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी 16 नवंबर को बाराबंकी को पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की सौगात देने वाले हैं। - Dainik Bhaskar
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी 16 नवंबर को बाराबंकी को पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की सौगात देने वाले हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी 16 नवंबर को बाराबंकी को बहुत बड़ी सौगात देने वाले हैं। पीएम मोदी पूर्वांचल एक्सप्रेस का लोकार्पण करने जा रहे हैं। इसके साथ ही जिले के विकास के रास्ते भी खुलेंगे। जिले में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे लोनीकटरा के हाथी का पुरवा गांव से शुरू होगा। जिले में यह एक्सप्रेस-वे तकरीबन 150 गांव से होते हुए सुबेहा में खत्म होगा। उसके बाद पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे अमेठी जिले में प्रवेश कर जाएगा।

सब्जी और फल उत्पादन में अग्रणी बाराबंकी जिले के किसान अबअपना सामान जाफी जल्द दूसरे जिलों की मंडी में भेज सकेंगे। इसी तरह दुग्ध उत्पादन के साथ खोवा, पनीर समेत डेयरी उत्पाद भी दूसरे जिलों की बड़ी मंडियों में जल्द पहुंचाई जा सकेगी। इसको लेकर जिले के व्यापारी और किसान उत्साहित हैं। इनका कहना है कि एक्सप्रेस-वे के आने के साथ ही जिले में फूड प्रोसेसिंग इकाई, कोल्ड स्टोरेज, डेयरी उद्योग समेत बाकी उद्योग स्थापित होने की संभावनाएं भी बढ़ेंगी।

इन जिलों को मिलेगा फायदा

पूर्वांचल एक्सप्रेस तकरीबन 42 हजार करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ है। यह एक्सप्रेस-वे जनपद लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अयोध्या, सुल्तानपुर, अम्बेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर से होकर निकला है। सरकार का दावा है कि यह एक्सप्रेसवे न सिर्फ उद्योग धंधों का मार्ग प्रशस्त करेगा, बल्कि क्षेत्रीय लोगों को बड़ी संख्या में रोजगार भी उपलब्ध कराएगा। एक्सप्रेस वे से बाराबंकी जिले के लोगों को लखनऊ, सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, अमेठी, अयोध्या, आजमगढ़ और मऊ पहुंचने में काफी सुविधा होगी। दूरी कम होने से समय की बचत होगी।

8 लेन का हो सकता एक्सप्रेस-वे

यह एक्सप्रेस-वे लखनऊ के चांद सराय गांव से शुरू होगा। लखनऊ से आजमगढ़ होते हुए गाजीपुर तक सिक्स लेन का 340.824 किमी लंबा ये एक्सप्रेस-वे पूर्वी और पश्चिमी यूपी को जोड़ेगा। इसे आगे चलकर में आठ लेन का भी किया जा सकता है। आपको बता दें कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के शुरू होने से न सिर्फ उत्तर प्रदेश के बल्कि बिहार के लोगों को भी काफी फायदा मिलेगा।

बिहार से दूर नहीं दिल्ली

एक्सप्रेस-वे के शुरू होने के बाद अब दिल्ली से बिहार तक का सफर भी आसान हो जाएगा। दिल्ली से यमुना एक्सप्रेसवे के जरिए आगरा, फिर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे से लखनऊ तक का सफर पूरा होगा और उसके बाद लखनऊ से पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से गाजीपुर आसानी से पहुंचा जा सकेगा। गाजीपुर से बिहार बॉर्डर की सीमा की अगर बात करें तो वह सिर्फ 20 किमी की दूरी पर ही है। ऐसे में अब इस एक्सप्रेस वे के बनने के बाद बिहार के लोगों के लिए भी दिल्ली दूर नहीं रहेगी।