UP में बारिश से हर घंटे गई एक जान:2 दिन में 18 जिलों में 50 मौतें; बाराबंकी में 8, प्रयागराज में 5, फतेहपुर में 6 की जान गई, अगले दो दिन भी भारी बारिश का अलर्ट

लखनऊ4 महीने पहले

मौसम विभाग के अनुसार 17 से 20 सितंबर तक यूपी में भारी बारिश के आसार हैं। शुक्रवार को भी कई जिलों में रिमझिम बारिश हो रही है। मेरठ, गाजियाबाद, नोएडा, हापुड़, बुलंदशहर, बागपत, मुजफ्फरनगर, शामली, बिजनौर और आस-पास के जिलों में काले बादल छाए हुए हैं। यहां तेज हवाएं भी चल रहीं।

वहीं, केवल शुक्रवार को ही सुल्तानपुर, बुलंदशहर, अम्बेडकरनगर, सीतापुर,चित्रकूट, आजमगढ़ और एटा में बारिश की वजह से कहीं दीवार ढहने से तो कहीं मकान गिरने से 15 की मौत भी हुई है। यूपी के आंकड़ों को देखें तो जिलों से मिली सूचना के मुताबिक बीते 48 घंटे में भारी बारिश की वजह से 18 जिलों में 50 लोगों ने अपनी जान गंवाई है। इस तरह से करीब हर घंटे में एक व्यक्ति की मौत हुई है।

बाराबंकी: यहां 2 मासूम समेत 8 लोगों की जान चली गई

बाराबंकी जिले में 15 सितंबर की रात से हो रही मूसलाधार बारिश ने कहर बरपा दिया है। यहां लगातार हो रही बारिश और तेज हवा के चलते अलग-अलग स्थानों पर कच्चे मकानों की दीवार ढह गईं हैं। मलबे में दबकर अब तक 8 लोगों की मौत हुई है।

एडीएम ने मृतकों के परिजनों को सरकार की ओर से मिलने वाले मुआवजे को दिलाए जाने की बात कही है। यहां 6 थाना क्षेत्रों में 8 लोगों की जान चली गई। इसमें दो मासूम भी शामिल हैं। असंदरा थाना क्षेत्र में तो मकान के मलबे में दबकर बाप और उसकी मासूम बेटी की मौत हो गयी, जबकि दरियाबाद में भी एक 7 वर्षीय बच्चे की जान चली गई। भारी बारिश ने सतरिख थाना, रामसनेही और बड्डूपुर थाने में भी तांडव मचाया है। कई घंटों से लगातार हो रही तेज बारिश से शहर में अस्तव्यस्त हुए जनजीवन के बीच चारों ओर पानी ही पानी दिख रहा है।

बाराबंकी में लगातार बारिश के कारण मोहल्ले में नदी जैसा नजारा दिखने लगा है।
बाराबंकी में लगातार बारिश के कारण मोहल्ले में नदी जैसा नजारा दिखने लगा है।

सुलतानपुर: तड़के हुआ हादसा, 1 की मौत

शुक्रवार को जिले के चांदा कोतवाली क्षेत्र के सदरपुर में रुक-रुक कर हुई भारी बारिश में सूरज पाल के मकान की कच्ची दीवार गिर गई। हादसे में सूरज पाल की मलबे में दबकर मौत हो गई। जहां हादसा हुआ वहीं मवेशी भी बंधे थे। जिससे 5 मवेशियों की भी मौत हुई है़।

बुलंदशहर: मकान की छत गिरी, एक की मौत

बरसात के बाद गांव शेखुपुर में मकान की छत गिर गई। जिससे मकान में सो रहे युवक की मौत हो गई। शुक्रवार सुबह ग्रामीणों और मृतक के पिता को जानकारी हुई। मौके पर पहुंची पुलिस जांच में जुटी है। छतारी क्षेत्र के गांव शेखुपुर निवासी पुष्पेंद्र कुमार उर्फ रूबी (20) पुत्र उदय वीर सिंह गुरुवार रात अपने मकान में सो रहा था और उसके पिता घेर में सो रहे थे। देर रात अचानक उसके मकान की छत गिर गई। जिससे वह मलबे में दब गया और उसकी मौत हो गई। शुक्रवार सुबह जब पुष्पेंद्र घर से बाहर नहीं निकला, तो उसके पिता समेत अन्य ग्रामीण मकान की तरफ पहुंचे। जहां मकान की छत गिरी देखकर सभी के होश उड़ गए।

आनन-फानन में उन्होंने मलबे को हटाया, तो युवक उन्हें मृत अवस्था में पड़ा मिला। सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और जांच-पड़ताल में जुटी है। मृतक की अभी शादी नहीं हुई थी और वह अपने पिता के साथ ही गांव में रहता था।

गांव शेखुपुर में मकान की छत गिर गई। जिससे मकान में सो रहे युवक की मौत हो गई।
गांव शेखुपुर में मकान की छत गिर गई। जिससे मकान में सो रहे युवक की मौत हो गई।

एटा: दो दिन में 2 की मौत

एटा जनपद के अलीगंज तहसील क्षेत्र के गांव कुदेशा में बीती रात बारिश के चलते दीवार गिरने से पंकज 32 साल के युवक की उसमे दबकर मौत हो गयी। वहीं जैथरा थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत तरगांव के ग्राम अल्लापुर निवासी गुड्डी देवी की छत गिरने से उसमे दबकर मौत हो गयी।

अम्बेडकरनगर: अलग अलग हादसों में 2 की मौत

जिले के अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र के बनगांव टेढ़वा और जलालपुर थानाक्षेत्र के करीमपुर नगपुर में कच्चा मकान गिरने से एक किशोरी और एक वृद्ध महिला की दीवार के नीचे दबकर मौत भी हो गई। यहां बारिश का सीधा असर गांव में दिख रहा है। अन्य जगहों की तरह शहर से लेकर गांव तक पानी ही पानी है। लोग पानी के बीच से होकर गुजर रहे है। पानी ने शहर की सभी नालियों को चोंक कर दिया है।

अम्बेडकरनगर में जगह जगह पेड़ और बिजली के पोल टूट कर गिरे हैं।
अम्बेडकरनगर में जगह जगह पेड़ और बिजली के पोल टूट कर गिरे हैं।

गोंडा: जिला अस्पताल में भर गया पानी

विकास खण्ड छपिया के ग्राम पंचायत तेदुआ रानीपुर के आसपास आज सुबह अचानक तेज आंधी पानी व चक्रवात ने कुछ दूरी तक ही तांडव कर पूरे क्षेत्र के पेड़, विद्युत के खंबे जड़ से उखाड़ कर तबाही मचा दिए। चार दिनों से चल रही तेज हवाओं के बीच बुधवार की देर रात से शुरू हुई बारिश रुकने का नाम ही नहीं ले रही। जिससे लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है। बारिश से जिला अस्पताल तालाब में बदल गया है। पूरे प्रांगण में जलभराव है तो अंदर कमरों में छत से पानी टपकने से फाइलें, मशीनें सब बर्बाद हो रही है।

गोंडा में सरकारी कार्यालयों में भी पानी भर गया है। यहां आज भी बारिश हो रही है।
गोंडा में सरकारी कार्यालयों में भी पानी भर गया है। यहां आज भी बारिश हो रही है।

कानपुर देहात: यहां 14 मकान ढह गए

कानपुर देहात में लगातार तीसरे दिन भी बारिश हो रही है। जिसके चलते भोगनीपुर व डेरापुर तहसील के अंतर्गत पड़ने वाले गांव में लगभग 14 कच्चे मकान गिरे हैं लेकिन किसी भी प्रकार की कोई जनहानि नहीं हुई है।

बीते दो दिनों से रही बारिश से संतकबीरनगर की मुख्य सड़क पर ही पानी भर गया है।
बीते दो दिनों से रही बारिश से संतकबीरनगर की मुख्य सड़क पर ही पानी भर गया है।
फतेहपुर में भारी बारिश की वजह से 6 लोगों की मौत हुई है। 150 से ज्यादा कच्चे मकान ढह गए हैं।
फतेहपुर में भारी बारिश की वजह से 6 लोगों की मौत हुई है। 150 से ज्यादा कच्चे मकान ढह गए हैं।
खबरें और भी हैं...