हे सरकार! ये कैसा सुशासन:जब बेटी को मनचलों के डर से बाल कटवाने पड़े, घर छोड़ना पड़ा; सुनिए, उसका दर्द उसी की जुबानी

फरीदपुर, बरेली7 महीने पहले

बरेली के फरीदपुर कस्बे के स्कूल में कक्षा 9 में पढ़ने वाली छात्रा ने छेड़खानी से परेशान होकर अपना मुंडन करा लिया। मनचले उसके बालों पर कमेंट करते थे। बेटी ने मुंडन कराया तो शर्म के मारे परिवार घर छोड़कर रिश्तेदार के यहां चला गया। जब लौटे तो मनचलों ने फिर बेटी के साथ हरकत शुरू कर दी।

मामले की शुरुआत 2 महीने पहले हुई थी। छात्रा ने बताया कि वह आते-जाते मनचलों की फब्तियों से तंग आ चुकी थी। स्कूल जाते वक्त उसके बालों को लेकर गंदे-गंदे कमेंट करते थे। इसलिए उसने चुपचाप जाकर मुंडन करा लिया। पिता ने घर में पूछा तो उन्हें भी बता दिया कि परेशान होकर उसने मुंडन करवा लिया है। पिता ने थाने में शिकायत की तो पुलिस ने आरोपियों को हिदायत देकर छोड़ दिया।

बेटी के सिर मुंडवाने की शर्म में परिवार रिश्तेदार के यहां चला गया
उधर, बेटी के मुंडन की वजह न बता पाने की शर्म में पिता परिवार सहित रिश्तेदार के यहां चले गए। वे काफी दिनों बाद लौटे तो मनचलों ने फिर बेटी को परेशान करना शुरू कर दिया। छात्रा के पिता ने बताया कि पड़ोस में रहने वाले विकास और अजय काफी समय से उनकी बेटी को स्कूल और कोचिंग जाते समय रास्ते मे परेशान करते थे।

दो दिन पहले शोहदों ने फिर कोचिंग जाते समय बेटी का हाथ पकड़ कर खींचने की कोशिश की। बेटी के शोर मचाने पर दोनों भाग गए। घटना के बाद शनिवार को पुलिस से शिकायत की। पुलिस ने बताया कि छात्रा की तहरीर पर दोनों आरोपियों के खिलाफ शनिवार रात मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। छात्रा के पिता ने बताया कि जब पहले पुलिस से शिकायत की थी। तब पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की।

इस मामले में सपा ने भी ट्वीट किया है।
इस मामले में सपा ने भी ट्वीट किया है।

बता दें कि एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक 2021 में यूपी में महिलाओं के खिलाफ अपराध के 15,828 केस दर्ज किए गए। यानी रोजाना 43 मामले। उधर, घटना पर समाजवादी पार्टी ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि बेटी बचाओ के झंडाबरदारों ने बेटियों को जीना मुहाल कर दिया है।