बरेली के मीरगंज में अब विकास को मिलेगी रफ्तार:पहली बार स्थानीय उम्मीदवार मोहम्मद इल्यास को कांग्रेस से मिला टिकट, बोले- अभी तक बाहरी प्रत्याशी बनते रहे विधायक

मीरगंज, बरेली11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बरेली में मीरगंज विधानसभा क्षेत्र से जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष व मीरगंज नगर पंचायत चेयरमैन मोहम्मद इल्यास अंसारी को प्रत्याशी बनाया गया है। क्षेत्रीय उम्मीदवार के एलान के बाद मीरजगंज में दम तोड़ चुकी कांग्रेस पार्टी में मानो नयी जान आ गई है। मीरगंज से कांग्रेस के तीन नेताओं ने टिकट के लिये आवेदन किया था।

पहली बार स्थानीय प्रत्याशी मैदान में

मोहम्मद इल्यास अंसारी ने बताया कि आज तक जो भी मीरगंज से विधायक बना हैं, सब के सब बाहरी हैं। जिन्होंने मीरगंज विधानसभा क्षेत्र के विकास के बारे में कभी सोचा ही नहीं। पहली बार स्थानीय प्रत्याशी मैदान में हैं। निश्चय ही जनता उनका सम्मान करेगी। प्रत्याशी घोषित होने पर मीरगंज , फ़तेहगंज , शाही, दुनका व शीशगढ़ आदि स्थानों पर आतिशबाजी कर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने खुशी का इजहार किया।

मोदी लहर में करना पड़ा हार का सामना

इससे पहले नरेंद्र गंगवार इस सीट से कांग्रेस की तरफ से चुनाव लड़े और लेकिन मोदी लहर में वह हार गए । मौजूदा समय यहां से भाजपा से डीसी वर्मा विधायक हैं। इस सीट के इतिहास पर गौर करें तो कांग्रेस से धर्मदत्त बैध 1952 में पहली बार कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में जीत हासिल की थी। इसके बाद वह लगातार तीन बार मीरगंज से विधायक चुने गए।