मीरगंज में हिस्ट्रीशीटर की गोली मारकर हत्या:बाग में रखवाली के समय दिया घटना को अंजाम, पेरोल पर आया हुआ था

मीरगंज14 दिन पहले

मीरगंज के शाही थाना क्षेत्र के गांव जुन्हाई में हिस्ट्रीशीटर की हत्या का मामला सामने आया है। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।वह पेरोल पर बाहर आया हुआ था।

हिस्ट्रीशीटर पर ही गोली मारने का आरोप

उसके साथी इंद्रपाल ने पुलिस को बताया कि शुक्रवार शाम मान सिंह का गांव के ही हिस्ट्रीशीटर शेर सिंह उर्फ शेरा से झगड़ा हुआ था। रात में जब वह और मान सिंह बाग में रखवाली कर रहे थे तभी शेरा ने अपने भाई मुरारी के साथ हमला कर दिया। इस दौरान मान सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी। जबकि वह मौके से जान बचाकर भाग निकले।

सुबह हुई घटना की जानकारी

मानसिंह के रिश्तेदार सतवीर सिंह ने बताया कि इंद्रपाल के जाने के बाद मानसिंह ने मदद के लिए आवाज लगाई होगी, लेकिन गांव के बाहर बाग होने के कारण कोई सुन नहीं सका। सुबह परिजन जब आम के बाग में गए तो घटना की जानकारी हुई। सूचना पर पुलिस ने मान सिंह से शव को लेकर पीएम के लिए भेज दिया है।

आरोपियों ने कबूला गुनाह

परिजनों ने शेर सिंह और मुरारी पर मान सिंह की हत्या का आरोप लगाया है। वहीं घटना के कुछ घंटों बाद ही पुलिस ने दोनों को दबोचा लिया। पूछताछ में दोनों ने हत्या की बात कबूली है। दोनों के खिलाफ पुलिस विधिक कार्रवाई में जुट गई है।

1999 में हुए हत्या के मामले में सभी को हुई थी आजीवन कारावास की सजा

जानकारी के मुताबिक 1999 में हुए एक हत्याकांड में मान सिंह और दोनों आरोपित संलिप्त थे। इसके बाद 2004 सभी को अदालत ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। बीते दिनों सभी पेरोल पर बाहर आए थे। वहीं गांव में चर्चा है कि जेल में रहने के दौरान ही दोनों का आपसे में विवाद हो गया था। जो लगातार बढ़ता गया।

खबरें और भी हैं...