जुए में गोली से उड़ाई खोपड़ी मामला:शहर छोड़कर भागने की फिराक में था आरोपी शानू, पुलिस ने सैटेलाइट बस अड्‌डे से धर दबोचा, भेजा जेल

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बारादरी पुलिस की हिरासत में आरोपी शानू, अपने हाथ में वही तंमचा लिए हुए जिससे उसने धर्मेंद्र को गोली मारी थी। - Dainik Bhaskar
बारादरी पुलिस की हिरासत में आरोपी शानू, अपने हाथ में वही तंमचा लिए हुए जिससे उसने धर्मेंद्र को गोली मारी थी।

उत्तर प्रदेश के बरेली में बीते रविवार को जुआ खेलते समय रेलवे कर्मचारी धर्मेंद्र के सिर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मामले में पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की तो सामने आया कि शानू मौर्य नाम के एक युवक ने धर्मेंद्र के सिर में गोली मारी थी। जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई। पुलिस ने शानू मौर्य की तलाश शुरू कर दी। गुरुवार को मुखबिर की सूचना पर बारादरी पुलिस ने शानू को सेटेलाइट बस अड्डे से गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि वह शहर छोड़कर भागने की फिराक में था।

पीली मिट्‌टी इलाके में चल रहा था जुआ
दरअसल, रविवार को सतीपुर के पीली मिट्‌टी इलाके में जुआ चल रहा था। इसी बीच लोगों को गोली चलने की आवाज सुनाई दी। देखा तो रेलवे कर्मचारी के सिर में गोली मारी गई थी। घटना होते ही सभी जुआरी मौके से फरार हो गए थे। मौके पर पहुंची पुलिस ने काफी पूछताछ की तो पता चला कि 300 रुपये के दांव को लेकर शानू और धर्मेंद्र में बहस हो गई थी। जिसकी वजह से शानू ने उसके सिर में गोली मार दी।

शानू बोला- असरफ के ऊपर ताना था तंमचा, हाथ मारा तो धर्मेंद्र के लगा
पुलिस की पूछताछ में शानू ने बताया कि उसका धर्मेंद्र से पैसों को लेकर कोई पुराना विवाद चल रहा था। जुआ खेलते समय उन्हीं पैसों को लेकर विवाद हुआ। मौके पर मौजूद असरफ इस बीच में पड़ गया और रोकने लगा। जब असरफ से बहस बाजी बड़ी तो शानू ने असरफ को डराने के लिए उसके ऊपर तंमचा तान दिया। मगर असरफ ने उसी वक्त तमंचे में हाथ मारा जिसकी वजह से गोली चली और धर्मेंद्र के सिर में जा लगी। जिसकी वजह से उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

पुलिस बोली- यह साफ मर्डर है, पोस्टमार्टम में खड़े होकर गोली मारना आया
शानू की बताई गई कहानी से पुलिस अभी तक संतुष्ट नहीं है। उनका कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर देखा जाए तो गोली खड़े से मारी गई है। जिससे साफ है कि धर्मेंद्र को गोली धोखे से नहीं बल्कि जानबूझकर मारी गई है। बारादरी इंस्पेक्टर नीरज मलिक का कहना है कि अभी विवेचना बाकी है। जैसे-जैसे मामले सामने आएंगे। धाराएं बढ़ा दी जाएंगी।

खबरें और भी हैं...