हलाला से मना करने पर पत्नी पर फेंका एसिड:चेहरा और शरीर झुलसा, तलाक के बाद दोबारा निकाह करना चाहता है शौहर

बरेली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बरेली में तीन तलाक पीड़ित महिला पर एसिड अटैक हुआ है। आरोप है कि तलाक देने वाला पति फिर से निकाह करने का दबाव बना रहा था। इसके लिए उसने हलाला करवाने के लिए कहा था। महिला ने इसका विरोध किया तो उस पर मंगलवार को तेजाब फेंक दिया गया। महिला का चेहरा झुलस गया है। हालांकि, हालत खतरे से बाहर है।

यह वारदात किला थाना क्षेत्र के मलूकपुर मोहल्ले की है। एसपी सिटी रविंद्र कुमार ने अस्पताल पहुंचकर महिला से बयान लिया है। उन्होंने बताया, ''आरोपी के खिलाफ एफआईआर लिखी जाएगी। आरोपी की तलाश की जा रही है।''

खबर आगे भी है, उससे पहले भास्कर पोल का हिस्सा बन सकते हैं...

ममेरे भाई से हुआ था निकाह
जुगल मोहल्ले की रहने वाली नसरीन ने बताया कि उसका निकाह 10 साल पहले उसके ममेरे भाई इशहाक से हुआ था। इशहाक प्राइवेट नौकरी करता था। दोनों से दो बच्चे हैं। आरोप है कि इशहाक का किसी अन्य महिला से प्रेम संबंध है। इसके बाद से वह नसरीन साथ छोटी-छोटी बात पर झगड़ा और मारपीट करने लगा।

इस दौरान वह उससे मायके से रुपए की मांग भी करने लगा। मना करने पर वह उसे अक्सर नसरीन को मारता पीटता था। नसरीन ने यह बात मायके वालों को बताई तो पंचायत भी हुई। लेकिन, वह नहीं माना। आए दिन उसको पीटता रहता। वह गुस्से में बच्चों को भी पीट देता था।

एक महीने पहले उसने उसे तीन तलाक देकर निकाल दिया। हालांकि अब वह कुछ दिन से उस पर हलाला का दबाव बनाकर दोबारा निकाह की बात कहने लगा। इसके बाद पीड़िता ने उसके साथ रहने से मना कर दिया। सोमवार को इशहाक ने उस पर तेजाब डालने की धमकी दी। लेकिन, नसरीन ने धमकी को सीरीयस नहीं लिया।

मंगलवार दोपहर इशहाक नसरीन के घर आया। इस दौरान उसने नसरीन से अकेले में बात करने को कहा। बात दोबारा निकाह से शुरू हुई। लेकिन बाद में इशहाक हलाला कराने का दबाव बनाने लगा। महिला ने उसे अपने घर जाने को कह दिया।

यह अस्पताल की फोटो है। महिला का इलाज चल रहा है। महिला के साथ उसके बच्चे भी अस्पताल में थे।
यह अस्पताल की फोटो है। महिला का इलाज चल रहा है। महिला के साथ उसके बच्चे भी अस्पताल में थे।

बोतल में ले गया था एसिड, चेहरा और शरीर झुलसा
इसी बीच इशहाक ने झोले से एसिड की बोतल निकाली और उस पर फेंक दिया। एसिड से महिला का चेहरा और शरीर झुलस गया। वह दर्द से चींख पड़ी तो घर के साथ मोहल्ले के लोग दौड़े। तब तक इशहाक वहां से भाग निकला। लोगों ने पीछा भी किया। लेकिन वह उनके हाथ नहीं आया। अब पुलिस इशहाक की तलाश कर रही है।