बरेली…9 स्मैक तस्करों पर शिकंजा:60 करोड़ की प्रॉपर्टी की हुई पहचान, सीज करने और बुलडोजर चलाने की तैयारी में पुलिस

बरेली21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
स्मैक तस्करी की प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
स्मैक तस्करी की प्रतीकात्मक फोटो।

बरेली में नशे के बढ़ते कारोबार को लेकर पुलिस सख्त हो गई है। तस्करों के खिलाफ 1 महीने तक अभियान चला कर उनकी डिटेल इकट्‌ठा की गई। इसमें कुल 9 बड़े तस्करों और उनकी 60 करोड़ की प्रॉपर्टी की पहचान की गई। 3 बड़े तस्करों की कुछ प्रॉपर्टी पर तो कार्रवाई हो भी गई। त्योहार बाद बाकी के 6 तस्करों की प्रॉपर्टी पर भी कार्रवाई होगी। इसके अलावा 50 अन्य करोड़पति स्मैक तस्करों को भी चिन्हित किया गया है। इनकी जांच इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को दी गई है। जिससे इनकी और प्रॉपर्टी के बारे में पता चल सके।

दरअसल, बरेली अब नशे के कारोबार के लिए बदनाम हो चुका है। पिछली 1 जनवरी से 30 अक्टूबर के बीच ही एनडीपीएस (नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सब्स्टान्सेस) एक्ट के 310 मुकदमे दर्ज किए गए। पुलिस ने इस दौरान 370 तस्करों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। इनसे स्मैक, चरस गांजे और अफीम समेत अन्य नशे के सामान की बड़ी खेप बरामद हुई।

50 तस्करों की इनकम टैक्स डिपार्टमेंट कर रहा जांच
पुलिस ने दो महीने पहले 20 किलो स्मैक बरामद की थी। इसके चलते जिले की काफी बदनामी हुई थी। साथ ही पुलिस पर भी सवाल उठे थे। यही वजह है कि पुलिस इन नशा तस्करों का डेटा तैयार कर चुकी है। अब नशे की कमाई से बनी इनकी प्रॉपर्टी पर बुलडोजर चलाने की तैयारी है।

कैश होगा सीज, प्रॉपर्टी पर चलेगा बुलडोजर
फतेहगंज पूर्वी, फरीदपुर, मीरगंज, फतेहगंज पश्चिमी, सिरौली तस्करी के लिए देश भर में बदनाम हैं। यहां अक्सर अलग-अलग राज्यों की पुलिस छापेमारी करती है। इसीलिए अब बरेली पुलिस ने ठान लिया है कि वह नशे का कारोबार खत्म करके ही दम लेगी।

SSP बरेली रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि किसी भी तस्कर को नहीं छोड़ा जाएगा। सभी की डिटेल तैयार की जा रही है। जिनके खातों में कैश है, उसे सीज किया जाएगा। जिन्होंने मकान, दुकान और बैंक्वेट हाल बनाए हैं। उन पर बुलडोजर चलेगा। साथ ही जिनकी जमीन है, उसे जब्त किया जाएगा।

शहर के 9 बड़े तस्कर और उनकी प्रॉपर्टी

  • पूर्व प्रधान शहीद निवासी फतेहगंज पूर्वी- 22 करोड़
  • तैमूर उर्फ भोला निवासी फतेहगंज पूर्वी- 15 करोड़
  • नन्हे उर्फ लंगड़ा निवासी फतेहगंज पश्चिमी- 7 करोड़
  • उस्मान निवासी फतेहगंज पश्चिमी- 5 करोड़
  • इस्लाम निवासी फरीदपुर- 4.50 करोड़
  • इरफान निवासी फरीदपुर- 2.50 करोड़
  • फैय्याज निवासी फरीदपुर- 2 करोड़
  • छोटे प्रधान निवासी- 1 करोड़
  • रिफाकत निवासी फतेहगंज पश्चिमी- 50 लाख