पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Bareilly
  • After Santosh Gangwar's Resignation From The Post Of Union Minister, Without A Minister, People Will Now Have Problems In Reaching Their Point Of View To The Governments.

मोदी कैबिनेट में विस्तार:संतोष गंगवार के केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफे के बाद बरेली हुई बिना मंत्री, लोगों को सरकारों तक अपनी बात पहुचानें में अब होंगी दिक्कतें

बरेली24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में विस्तार के चलते बरेली से सांसद केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार (श्रम एवं रोजगार मंत्री, स्वतंत्र प्रभार) से मंत्री पद से इस्तीफा ले लिया गया है। बताया जा रहा है कि यह इस्तीफा उन्होंने अपनी बढ़ती उम्र की वजह से दिया है। मगर बात जो भी हो लेकिन केंद्रीय मंत्री के पद से संतोष के इस्तीफे के बाद अब बरेली बिना किसी मंत्री के हो गया है। बरेली में अब कोई भी मंत्री ऐसा नहीं बचा जो जनता की बात को सीधे सरकारों तक पहुंचा सके। जिसकी वजह से अब लोगों को अपनी बात केंद्र तक पहुंचाने के लिए काफी मशक्कतें करनी होंगी।

बरेली में केंद्र और राज्य सरकारों में तीन मंत्री थे, दो राज्य और एक केंद्रीय राज्य मंत्री
बरेली में अब तक केंद्र और राज्य सरकारों को मिलकार कुल तीन मंत्री थे। जिसमें से पहले केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार, दूसरे राज्य सराकर में मंत्री धर्मपाल सिंह और तीसरे राज्य मंत्री राजेश अग्रवाल थे। केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार थे तो केंद्रीय मंत्री मगर उन्हें राज्य में श्रम एवं रोजगार मंत्री का पद संभालने के लिए दिया गया था। मगर यह स्वतंत्र प्रभार थे। तो वहीं, धर्मपाल सिंह को यूपी में सिंचाई मंत्री पद की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। राजेश अग्रवाल को वित्तीय विभाग का पद संभालने के लिए दिया गया था। बरेली में राज्य और केंद्र सरकारों के कुल तीन मंत्री पद होने के बाद अब एक भी बरेली का एक भी राजनेता मंत्री पद पर नहीं है।

वर्ष 2019 में बरेली से दो मंत्रियों से लिया गया था इस्तीफा
योगी सरकार की कैबिनेट के विस्तार के चलते बरेली से दो मंत्रियों को एक साथ अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था। बताया गया था कि उन्होंने अपने स्वास्थ्य के खराब रहने के चलते इस्तीफा दिया था। राजेश अग्रवाल ने अपने इस्तीफ के बाद एक पत्र भी जारी किया था। जिसमें उन्होंने अपने खराब स्वास्थ्य होने की वजह से इस्तीफा देना बताया था। तो वहीं, राज्य मंत्री धर्मपाल सिंह के इस्तीफे को भी बढ़ती उम्र की वजह से इस्तीफा देना बताया जा रहा है।

विधायकों ने कोई भी टिप्पणी करने से कर दिया मना
बरेली के विधायकों से जब इस बारे में बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने इस मामले पर कोई भी टिप्पणी करने से मना कर दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी ने जो भी फैसला लिया है वह सोच समझकर ही लिया होगा। इस बारे में वह कुछ नहीं कह सकते।

मेयर बोले बरेली के क्षति है मंत्री जी का इस्तीफा
बरेली से भाजपा मेयर डॉ. उमेश गौतम का कहना है कि केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार के इस्तीफे से बरेली के लिए काफी क्षति होगी मगर फिर भी पार्टी ने जो निर्णय लिया है वह सोच समझकर ही लिया होगा। पार्टी का निर्णय सर्वोपरि है। उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसा लगता है कि संतोष को और भी बड़ी जिम्मेदारी सौंपने की तैयारी चल रही है।

खबरें और भी हैं...