पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्यार की परीक्षा:बरेली के अनाथालय की लड़की को हुआ अलीगढ़ के लड़के से प्रेम, चार साल तक देनी पड़ी दोनों को अग्नि परीक्षा, अब बजेगी शहनाई

बरेलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आठ साल की उम्र में अनाथालय में लाई गई थी, 12वीं की कक्षा में हुआ अलीगढ़ के लड़के से प्यार। अनाथालय ने रखी शर्त, चार साल बाद होगी शादी। (अनाथालय का फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
आठ साल की उम्र में अनाथालय में लाई गई थी, 12वीं की कक्षा में हुआ अलीगढ़ के लड़के से प्यार। अनाथालय ने रखी शर्त, चार साल बाद होगी शादी। (अनाथालय का फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के बरेली से एक अनोखा मामला सामने आ रहा है। यहां एक अनाथालय में रही वाली युवती को अलीगढ़ के लड़के से प्रेम हुआ। दोनों ने शादी करने की ठानी तो अनाथालय से अनुमति लेने की बात आड़े आ गई। अनाथालय के प्रधान ने ऐसी शर्त रख दी कि दोनों को चार साल तक अग्नि परीक्षा देनी पड़ी। आगामी 18 जुलाई को दोनों की शादी होनी है।

दरअसल, बरेली सिटी स्टेशन जीआरपी ने साल 2011 में आठ साल की उम्र में किशोरी को आर्या समाज अनाथालय में दिया था। आरती ने कक्षा पांच तक की पढ़ाई अनाथालय के प्राइमरी स्कूल से ही पूरी की। इसके बाद वह अलीगढ़ के गुरुकुल में पढ़ाई करने के लिए चली गई। वहां से उसने 12वीं तक की अपनी पढ़ाई पूरी की। उसी वक्त उसका गुरुकुल में पढ़ने वाली अपनी सहेली के मौसेरे भाई से प्रेम हो गया। दोनों ने शादी का फैसला लिया तो अनाथालय से अनुमति लेने की बात आड़े आ गई।

अनाथालय के प्रधान ने परिजनों समेत मिलने बुलाया
अनाथालय के प्रधान हर्षवर्धन ने बताया कि जब युवक से शादी करना चाह रहा था। मगर युवती अनाथालय है और किशोरावस्था में थी, इसलिए अनाथालय की अनुमति के बाद ही शादी हो सकती है। इस पर युवक को परिवार के साथ अनाथालय आने के लिए कहा गया। जिससे परिवार के लोगों से भी बातचीत हो सके।

चार साल तक निभाई प्रेम की परीक्षा
प्रधान हर्ष वर्धन ने बताया कि जिस वक्त युवक अपने परिवार के साथ बातचीत करने आया, उस वक्त वह बीएससी फस्ट ईयर का छात्र था और किशोरी 12वीं में पढ़ रही थी। इसलिए प्रधान ने पढ़ाई पूरी करने की बात कही। प्रधान ने शर्त रखी कि दोनों को चार साल तक अलग रहना होगा। दूरी के बाद भी अगर दोनों का प्रेम कायम रहा तो अनाथालय में ही उनकी शादी करा देंगे। इस बीच केवल उन्हें फोन से ही बातचीत करने की अनुमति थी। चार साल में युवक ने पढ़ाई पूरी कर एक प्राइवेट बैंक में नौकरी शुरू कर दी और युवती ने भी एलएलबी का एक साल पूरा कर लिया है।

सहेली के मौसी के घर में हुई थी मुलाकात, फिर प्यार
अनाथालय के प्रधान ने बताया कि जब आरती गुरुकुल में पढ़ती थी तो उसकी सहेली की मौसी अलीगढ़ में ही रहती थी। वहीं, युवती की मुलाकात सहेली के मौसेरे भाई से हुई। वहीं से दोनों के बीच प्यार शुरू हो गया।