फौजी बनकर वकील से 61 हजार ठगे:फेसबुक पर बाइक बेचने का ऐड दिया, फिर झांसा देकर रुपए मांगे

बरेली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फेसबुक पर बाइक बेचने का विज्ञापन देकर अधिवक्ता को झांसा देकर रुपये ठगे। - Dainik Bhaskar
फेसबुक पर बाइक बेचने का विज्ञापन देकर अधिवक्ता को झांसा देकर रुपये ठगे।

बरेली के एक शीशगढ़ क्षेत्र के एक अधिवक्ता से शातिरों ने फौजी बनकर ऑनलाइन बाइक बेचने के नाम पर 61 हजार की ठगी कर ली। पीड़िता को जब पता चला तो उसने स्थानीय पुलिस से शिकायत की लेकिन सुनवाई नहीं हुई।

पीड़ित अधिवक्ता मंगलवार को SSP से मुलाकात कर कार्रवाई की मांग की तो उन्होंने मामला साइबर सेल को सौंप दिया है। फिलहाल पुलिस ने मामले की जांच कर शातिरों की तलाश शुरू कर दी है।

ऑनलाइन विज्ञापन के झांसे में आया अधिवक्ता

शीशगढ़ थाना क्षेत्र के गांव बीसलपुर निवासी एजाज अहमद पुत्र नवी अहमद अधिवक्ता है। उन्होंने बताया कि 2 दिन पहले उन्होंने एक सोशल नेटवर्किंग साइट के विज्ञापन पर ऑनलाइन बाइक बिक्री का विज्ञापन देखा।

बाइक देखने पर उन्हें पसंद आई तो उन्होंने बाइक मालिक के दिए गए मोबाइल नंबर पर संपर्क किया। इस दौरान उनके वाट्सएप पर कॉल आई और कॉल करने वाले ने कहा कि वह फौजी हैं और अपना नाम विकास गंगवार पता गौटिया लाडपुर सेंथल पट्‌टी बताया।

उसने कहा कि वह इस समय आगरा कैंट में तैनात हैं। उसने अपने वाट्सएप नंबर से बाइक की फोटो, अपना आधार कार्ड, कैंटीन कार्ड के साथ आईकार्ड भी भेजा। जिसके बाद बाइक का सौदा 50 हजार में हो गया। एजाज ने बताया कि पहले तो उसने बाइक की बिल्टी बनवाने के नाम पर 1500 रुपए मांगे और बिल्टी की फोटो भेजी। उसके बाद एडवांस में 9990 भेजने को कहा।

रकम भेजने के बाद फिर 9 हजारा फिर 990 , 17200 फिर 17200 रुपये उसके बाद फिर 5 हजार रुपए खाते में डलवाए। जब उसने बाइक की डिलेवरी करने के लिए दबाव बनाया तो आरोपित फिर रुपए की मांग करने लगा। जिसके बाद पीड़ित को अपने साथ ठगी का एहसास हुआ और उसने मामले की शिकायत अफसरों से की। फिलहाल SSP के आदेश पर साइबर सेल ने मामले की जांच शुरू कर दी है।