• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Bareilly
  • Dead Body Of District Hospital Worker Found Hanging In The Forest: Along With Property Dispute, There Was Also A Case Of Fraud In The Name Of Job

जिला अस्पताल कर्मी का जंगल में लटका मिला शव:प्रॉपर्टी विवाद के साथ ही नौकरी के नाम पर भी दर्ज था मुकदमा

बरेली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बरेली के जिला अस्पताल में तैनात एक स्वास्थ्यकर्मी की संदिग्ध हालत में जंगल में पेड़ पर लटकी लाश मिली। (मृतक भूपराम की फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
बरेली के जिला अस्पताल में तैनात एक स्वास्थ्यकर्मी की संदिग्ध हालत में जंगल में पेड़ पर लटकी लाश मिली। (मृतक भूपराम की फाइल फोटो)

बरेली के जिला अस्पताल में तैनात एक स्वास्थ्यकर्मी की संदिग्ध हालत में जंगल में पेड़ पर लटकी लाश मिली। मंगलवार दोपहर में रास्ते से गुजर रहे लोगों की नजर पड़ी, तो भीड़ लग गई। जानकारी होने पर पुलिस मौके पर पहुंची। जेब में मिले मोबाइल पर जब परिजनों का कॉल आया, तो उन्हें पुलिस ने घटना के बारे में बताया।

पोस्टमार्टम में मौजूद रिश्तेदार, नौकरी लगवाने के नाम पर धोखाधड़ी का भी दर्ज था मुकदमा
पोस्टमार्टम में मौजूद रिश्तेदार, नौकरी लगवाने के नाम पर धोखाधड़ी का भी दर्ज था मुकदमा

पुलिस ने परिजनों से पूछताछ की तो पता चला कि मृतक शाम को सामान लेने के लिए घर से निकले थे। फिलहाल पुलिस ने शव को पेड़ से नीचे उतारा और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

CMO ऑफिस में था तैनात

मूल रूप से सीबीगंज के खलीलपुर रोड गली नंबर एक निवासी भूपराम (40) पुत्र राम सिंह जिला अस्पताल में नौकरी करते थे। वह CMO ऑफिस चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी के पद पर थे। पत्नी लता व चार बच्चों के साथ जिला अस्पताल के सरकारी क्वार्टर में रहते थे। उनकी बेटी ज्योति ने बताया कि रविवार शाम वह बाजार सामान लेने की बात कहकर घर से निकले थे।

उसके बाद से उनका कोई पता नहीं चल रहा था। देर रात तक कई बार कॉल लगाई पर फोन नहीं उठा। दोपहर में कॉल लगी तो पुलिस ने उठाया और कहा कि उनका शव पेड़ पर लटका मिला है। जिसके बाद रोता बिलखता परिवार मौके पर पहुंचा।

धोखाधड़ी का भी दर्ज था मुकदमा

परिजनों ने बताया कि बारादरी के भरतौल इलाके में जहां उनका शव मिला है। वहां की एक महिला से भूपराम की जमीन का विवाद भी चल रहा है। वहीं पूछताछ में पता चला कि आरोपित भूपराम के खिलाफ स्वास्थ्य विभाग में नौकरी दिलवाने के नाम पर रुपये ऐठने का मुकदमा दर्ज है। पिछले कुछ महीने से भूपराम डिप्रेशन के शिकार चल रहे थे।

फिलहाल पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। जिससे यह पता चल सके कि आखिर भूपराम की मौत कैसे हुई है। पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की बात कह रही है। हालांकि परिजनों ने किसी पर कोई आरोप नहीं लगाया है। वहीं मृतक के पास से कोई सुसाइड लेटर भी नहीं मिला है।

खबरें और भी हैं...