बाढ़ संभावित क्षेत्रों का डीएम ने किया स्थलीय निरीक्षण:अधिशासी अभियंता को तत्काल बाढ़ सुरक्षा हेतु कार्य कराने के लिए किया निर्देशित

बरेलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अधिशासी अभियंता को तत्काल बाढ़ सुरक्षा हेतु कार्य कराने के लिए किया निर्देशित। - Dainik Bhaskar
अधिशासी अभियंता को तत्काल बाढ़ सुरक्षा हेतु कार्य कराने के लिए किया निर्देशित।

बरेली में डीएम शिवाकान्त दिवेदी बाढ़ संभावित क्षेत्रों का दौरान किया है। इस दौरान उन्होंने मातहतों से कहा कि जनपद के जिन स्थलों पर बाढ़ की आशंका है, उन स्थलों पर समय रहते सुरक्षात्मक कार्यवाही की जाए।

उन्होंने कहा कि रामगंगा नदी पर ग्राम सूदनपुर के जिन क्षेत्रों में रामगंगा नदी से कटाव के उपरान्त बंधा क्षतिग्रस्त हो गया है, उसके पुर्ननिर्माण के कार्य को तत्काल प्रारम्भ किया जाए।

दर्जनों गांवों में बाढ़ को लेकर शुरू हुई तैयारी

डीएम ने अफसरों के साथ ग्राम गोपालपुर तथा सूदनपुर में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि जनपद में किसी स्थान पर कार्य पूर्ण न होने की दशा में बाढ़ आने की आशंका को प्रत्येक दशा में समाप्त करने के प्रयास किए जाएं। उन्होंने कहा कि बाढ़ से प्रभावित होने की आशंका वाले क्षेत्रों में तत्काल कार्य शुरू कर दिया जाए। निरीक्षण के दौरान डीएम को अधिशासी अभियन्ता् बाढ खण्ड बरेली राजेन्द्र कुमार ने अवगत कराया कि बदायूं सिंचाई परियोजना के अन्तर्गत 12.500 किलोमीटर में निर्मित अफलक्स बांध के किलोमीटर 11.100 में स्थित ग्राम सूदनपुर के निकट रामगंगा नदी की धारा यू आकार में होकर बह रही है।

जिससे बंधे के 11.100 किलोमीटर पर लगभग 350 मीटर लम्बाई में क्षतिग्रस्त हो गया है। अधिशासी अभियंता ने बताया कि यदि नदी में क्षमता से अधिक पानी बढ़ता है तो ऐसी स्थिति में पानी बंधे को पार करके गांव में बाढ़ की समस्या उत्पन्न कर सकता है। रामगंगा नदी में पानी बढ़ने पर सूदनपुर, गुजरहाई एतमाली, नवदिया ठाकुरान, धनेती खड़गपुर, मुबारकपुर, गैनी, ऐठपुर, रूपपुर, रमपुरा इनायतपुर आदि ग्रामों के बाढ़ की चपेट में आने की आशंका है। डीएम ने अधिशासी अभियंता को तत्काल बाढ़ सुरक्षा हेतु कार्य कराने के लिए निर्देशित किया तथा साथ में पूर्व निर्मित क्यूनेट को स्क्रीन करने के भी निर्देश दिये गये।