फर्जी टीटीई गिरफ्तार:पहले ट्रेन से टीटीई का बैग चुराया, बाद में करने लगा चैकिंग के नाम पर वसूली, शक हुआ तो टीटीई ने धर दबोचा

बरेली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ट्रेनों में फर्जी टीटीई बनकर यात्रियों से वसूली करने का एक नया मामला सामने आया है। शाहजहांपुर के खिरनी बाग के रहने वाले अरविंद को पंजाब मेल में फर्जी टीटीई बनकर लोगों से वसूली करते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया गया है। अरविंद असली टीटीई दिखने के लिए आशीष सिंह नाम के टीटीई का कोट और चालान बुक इस्तेमाल करता था। जो कि बीते दिनों चोरी हो चुकी थी। अरविंद पर हरिद्वार के नजीमाबाद जीआरपी ने मुकदमा दर्ज किया है।

अवध-असम ट्रेन से चोरी हुआ था आशीष का बैग
दरअसल, तीन अगस्त को 05910 लालगढ़ से डिब्रूगढ़ जाने वाली अवध असम स्पेशल से मुरादाबाद के टीटीई आशीष सिंह का बैग बरेली से चोरी हो गया था। जिसमे उनका कोट, चालान बुक समेत अन्य दस्तावेज थे। आशीष की तहरीर पर बरेली जंक्शन जीआरपी ने मुकदमा दर्ज कर लिया था। मगर वही कोट और चालान बुक का इस्तेमाल करते हुए गुरुवार देर रात नजीमाबाद जंक्शन पर अरविंद नाम के फर्जी टीटीई को गिरफ्तार किया गया।

कैसे पकड़ा गया फर्जी टीटीई
पंजाब मेल ट्रेन में गुरुवार को टीटीई लक्ष्मण सिंह व बीएल मीना की ड्यूटी मुरादाबाद से लुधियाना के लिए लगाई गई थी। यात्रा के दौरान ट्रेन के पैंट्री कार स्टाफ ने बताया कि कोच एस-8 में किसी टीटीई ने कुछ यात्रियों को पकड़ रखा है। जब टीटीई लक्ष्मण सिंह और बीएल मीना ने मौके पर जाकर देखा तो खुद को टीटीई बताने वाले व्यक्ति के पास चालान बुक व कोर्ट आशीष सिंह का था। जो कि कुछ दिन पहले बरेली से चोरी हो गया था। उन्होंने तुरन्त मामले की सूचना कंट्रोल के माध्यम से ट्रेन स्क्वायड, नजिमाबाद जीआरपी को दी। ट्रेन के नजिमाबाद पहुंचते ही जीआरपी ने फर्जी टीटीई को गिरफ्तार कर लिया। जहां उससे पूछताछ की जा रही है।

खबरें और भी हैं...