स्कूल के अंदर महिला ने की आत्मदाह की कोशिश:आरोप था, स्कूल प्रशासन कर रहा था महिला को प्रताणित, 13 वर्षों से रूका एक माह का वेतन नहीं किया निर्गत

बरेली5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महिला कर्मचारी को पुलिस के ले जाने के बाद प्रिंसिपल के साथ बैठा स्कूल का अन्य स्टाफ। - Dainik Bhaskar
महिला कर्मचारी को पुलिस के ले जाने के बाद प्रिंसिपल के साथ बैठा स्कूल का अन्य स्टाफ।

उत्तर प्रदेश के बरेली में राम भरोसे लाल गर्ल्स इंटर कॉलेज की एक महिला कर्मचारी ने स्कूल के अंदर ही गुरुवार को आत्मदाह करने की कोशिश की। किसी तरह स्कूल में मौजूद अन्य कर्मचारियों ने उसे रोका। मगर वह रोकने के लिए तैयार नहीं थी। स्कूल की प्रिंसिपल नवनीत मेहता ने तत्काल पुलिस को फोन कर मामले के बारे में सूचित किया। जिसके बाद पुलिस महिला कर्मचारी को कोतवाली थाने ले गई वहां पर मामले को रफा-दफा किया गया।

13 वर्षों से रुका हुआ वेतन नहीं कर रहे निर्गत
स्कूल की प्रिंसिपल नवनीत मेहता ने बताया कि महिला कर्मचारी का वर्ष 2007 में किन्ही कारणों की वजह से तत्कालीन प्रिंसिपल वीना अग्रवाल ने उनका एक माह का वेतन रोका था। जिसको लेकर इनकी समस्या थी। मौजूदा प्रिंसिपल का कहना है कि उन्होंने कई बार कहा कि वह अपनी फाइल लेकर आए। मगर उन्होंने आज तक अपनी फाइल प्रस्तुत नहीं की।

स्कूल में इसी जगह पर खड़े होकर महिला ने की थी आत्मदाह की कोशिश, अन्य कर्मचारियों ने बचा लिया।
स्कूल में इसी जगह पर खड़े होकर महिला ने की थी आत्मदाह की कोशिश, अन्य कर्मचारियों ने बचा लिया।

अगले वर्ष होना है महिला कर्मचारी का प्रमोशन
बताया जा रहा है कि महिला कर्मचारी का अगले वर्ष प्रमोशन होना है। यदि उनकी 1 माह की सैलरी निर्गत नहीं हुई तो उनके प्रमोशन में रुकावट आ सकती है। जिसकी वजह से वह बार-बार अपना वेतन निर्गत करने के लिए कह रही थी। मगर स्कूल में कोई भी उनकी सुनने के लिए तैयार नहीं था।

पूर्व में तैनात बाबू को कहे थे अपशब्द
स्कूल की प्रिंसिपल ने बताया कि शुक्रवार को स्कूल में बीएड की प्रवेश परीक्षा होनी है। जिसकी तैयारियों को लेकर स्कूल में उन्होंने सेवानिवृत्त बाबू को बुलाया था। जिससे वह तैयारियों को पूरा कर सकें मगर महिला कर्मचारी ने उन्हें अपशब्द कहना शुरू कर दिया। आरोप था, उन्हीं बाबू की वजह से उनका वेतन निर्गत नहीं हो सका था। जब स्कूल की प्रिंसिपल समेत अन्य कर्मचारियों ने उन्हें अपशब्द कहने से रोका तो वह कहीं से केरोसिन का तेल लेकर आई और अपने ऊपर छिड़क कर आत्मदाह करने की कोशिश की।

कोतवाली पहुंचकर महिला के पति बोले मामला निपट गया
इस मामले में महिला के पति से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने कोतवाली में बैठकर कहा कि वह किसी तरह की कार्रवाई नहीं चाहते हैं। यह उनका आपसी मामला था। प्रबंधक से बात होकर निपट गया है। हालांकि पुलिस ने उनके इस रवैए पर नाराजगी जताई थी।

क्या कहती है पुलिस

जब इस बारे में कोतवाली इंस्पेक्टर पंकज पंत से बात की गई। तो उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों ने बिना किसी तहरीर दिए ही आपस में मामला निपटा लिया है। स्कूल की तरफ से मंगलवार तक का समय दिया गया है। कहा कि मंगलवार तक मामले का निस्तारण कर देंगे।

खबरें और भी हैं...