ऑपरेशन पाताल के दौरान तमंचा फैक्ट्री चलाते टॉप-10 बदमाश गिरफ्तार:भारी संख्या में बने और अधबने तमंचे बरेली की हाफिजगंज पुलिस ने किए बरामद

बरेलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भारी संख्या में बने और अधबने तमंचे बरेली की हाफिजगंज पुलिस ने किए बरामद। - Dainik Bhaskar
भारी संख्या में बने और अधबने तमंचे बरेली की हाफिजगंज पुलिस ने किए बरामद।

बरेली में अवैध शस्त्रों के खिलाफ चलाए जा रहे ऑपरेशन पाताल के तहत हाफिजगंज पुलिस ने थाने के टॉप-10 अपराधी को तमंचा फैक्ट्री चलाते हुए धर दबोचा। पुलिस ने मौके पर बड़ी संख्या में बने व अधबने तमंचे, पौनिया समेत भारी संख्या में तमंचा बनाने में प्रयुक्त होने वाला रॉ मटेरियल के साथ ही तमंचा बनाने के उपकरण भी बरामद किए हैं।

पूछताछ में पता चला कि आरोपित पिछले कई महीने से चोरी-छिपे तमंचा बनाकर बेचने का अवैध धंधा कर रहा था। आरोपित थाने का शातिर टॉप-10 अपराधी भी है। फिलहाल पुलिस मौके से फरार दूसरे आरोपित की तलाश में दबिश दे रही है।

आईटीआई कॉलेज के पीछे चल रहा थी तमंचा फैक्ट्री

बरेली के हाफिजगंज थाना प्रभारी अजीत प्रताप सिंह ने बताया कि अफसरों के आदेश पर इन दिनों ऑपरेशन पाताल के तहत अवैध शस्त्रों के खिलाफ अभियान चल रहा था। इसी दौरान पुलिस को मुखबिर ने सूचना दी कि थाने का टॉप-10 शातिर बदमाश तसलीम पुत्र छुटके निवासी ग्राम लाडपुर उस्मानपुर इस दिनों तमंचा बनाने और बेचने का अवैध धंधा चला रहा है।

मुखबिर की सूचना के बाद पुलिस कई दिन से उसके पीछे लगी लेकिन उसके बारे में कोई सुराग नहीं लग रहा था। रविवार दोपहर को पुलिस को भनक लगी कि तसलीम क्षेत्र के सेंथल कस्बे के आईटीआई बिल्डिंग के पीछे जंगल में एक झोपड़ी में अवैध शस्त्र बनाने का काम कर रहा है। जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घेराबंदी की और तसलीम को अवैध तमंचा बनाते धर दबोचा जबकि उसका दूसरा साथी मुस्ताक मौके से भागने में कामयाब रहा।

पुलिस ने मौके से 12 बोर के 2 तमंचे, 2 तमंचे 315 बोर की, 1 पौनिया 315 बोर की एवं कई अर्द्धनिर्मित तमंचे के साथ ही बड़ी संख्या में तमंचा बनाने में प्रयुक्त सामग्री, कारतूस के साथ ही तमंचा बनाने के उपकरण बरामद किए हैं। गिरफ्तार तसलीम के खिलाफ थाने में करीब आधा दर्जन मुकदमे दर्ज हैं। जबकि फरार आरोपित मुस्ताक के खिलाफ भी कई मुकदमे दर्ज हैँ।