• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Bareilly
  • Improvement In The Condition Of The Innocent, Stitches In The Delicate Part: The Innocent Girl Is Still Troubled By The Pain, The Officers Have Proof, Put The Whole Chargesheet

मासूम की हालत में सुधार नहीं:बरेली में 60 साल के बुजुर्ग की दरिंदगी की शिकार बच्ची भर्ती, ग्रामीण बोले- दरिंदे को गांव में घुसने नहीं देंगे

बरेली5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतिकात्मक फोटो।

बरेली के शाही में 60 साल के बुजुर्ग की दरिंदगी की शिकार दो साल की मासूम की हालत में अब थोड़ा सुधार हो रहा है। बुजुर्ग की दरिंदगी की शिकार बच्ची के प्राइवेट पार्ट में डॉक्टरों को टांके लगाने पड़े। हालांकि डॉक्टरों को कहना है कि बच्ची को अभी दर्द से पूरी तरह निजात नहीं मिली है।

दर्द और चोट ठीक होने में अभी कुछ दिनों का समय लग सकता है। वहीं प्रशासनिक अफसरों ने भी बच्ची के परिजनों को न्याय का भरोसा दिलाया है।

दरिंदे को गांव में अब नहीं मिलेगी जगह

वहीं, दो साल की मासूम बच्ची से दुष्कर्म के मामले में ग्रामीणों में भारी आक्रोश है। बुजुर्ग की इस हरकत से गांव के बच्चों से लेकर महिलाओं और पुरुषों में भारी आक्रोश है। इस मामले को लेकर ग्रामीणों ने पंचायत भी की और कहा कि बुजुर्ग की इस हरकत ने मानवता को तो शर्मसार किया ही है। इसके साथ उनके गांव के नाम को भी कलंकित कर दिया है। इससे पूरे गांव का नाम बदनाम हो गया है।

इसलिए ग्रामीणों ने निर्णय लिया है कि अगर किसी तरह बुजुर्ग जमानत पर छूट गया तो वह उसे गांव में रहने नहीं देंगे। हालांकि अफसरों ने ग्रामीणों और परिवार को आश्वासन दिया है कि बुजुर्ग जमानत पर नहीं छूटेगा। उसके खिलाफ पर्याप्त सबूत है। जल्द ही इस मामले में जांच पूरी कर कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की जाएगी। इतना ही नहीं उसे जल्द से जल्द सजा दिलाने का प्रयास है।

बुजुर्ग की हरकत से शर्मिंदा हुआ परिवार

60 वर्षीय बुजुर्ग पहले ट्रक चालक था। उसका पूरा परिवार उसके साथ रहता था। कुछ साल पहले पत्नी की मौत हो गई तो दोनों बेटे परिवार चलाने के लिए बाहर नौकरी करने चले गए। वह बुजुर्ग पिता के लिख खर्च भी भेजते थे, लेकिन जैसे ही उन्हें पिता की करतूत पता चली वह भी पिता से नफरत करने लगे।

उन्होंने गांव के रिश्तेदारों से बात कर घटना पर अफसोस जताया और कहा कि वह खुद अब पिता से संबंध नहीं रखेंगे। न ही जेल में उनसे मिलने जाएंगे और न ही उनके केस की पैरवी करेंगे।

भरोसे का कर दिया कत्ल

परिजनों की मानें तो उनकी दो साल की मासूम और चार साल की उसकी बड़ी बहन बुजुर्ग को बाबा की तरह मानती थी। जब बुजुर्ग बच्ची को अपने साथ ले गया तो वह उसके भरोसे में चली गई होगी। बुजुर्ग ने उनकी बच्ची ही नहीं, उनके साथ पूरे गांव के भरोसे का कत्ल कर दिया है। इतना हीं नहीं, अब बुजुर्ग का परिवार भी उससे नफरत करने लगा है। SSP रोहित सिंह सजवाण का कहना है कि इस मामले में जल्द से जल्द आरोपित को सजा दिलाने का काम पुलिस करेगी।

आरोपी के खिलाफ ठोस साक्ष्य है, उसके खिलाफ चार्जशीट लगाई जा रही है। लोगों ने बताया कि 60 वर्षीय बुजुर्ग पहले ट्रक चालक था। उसका पूरा परिवार उसके साथ रहता था, कुछ साल पहले पत्नी की मौत हो गई तो दोनों बेटे परिवार चलाने के लिए बाहर नौकरी करने चले गए। वह बुजुर्ग पिता के लिए खर्च भी भेजते थे, लेकिन जैसे ही उन्हें पिता की करतूत पता चली, वह भी पिता से नफरत करने लगे। उन्होंने गांव के रिश्तेदारों से बात कर घटना पर अफसोस जताया।

खबरें और भी हैं...