पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पिता को 3 दिन फांसी पर लटका देखते रहे मासूम:बरेली में पत्नी झगड़कर मायके चली गई तो पति ने फांसी लगाई, 6 और 4 साल के दो बच्चे शव के साथ बिना खाए-पीए घर में बंद रहे

बरेली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पिता की लाश कमरे में लटक रही थी और दो बच्चे तीन दिन तक उसी कमरे में रहे। - Dainik Bhaskar
पिता की लाश कमरे में लटक रही थी और दो बच्चे तीन दिन तक उसी कमरे में रहे।

उत्तर प्रदेश के बरेली में मंगलवार रात एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक युवक ने अपने दो मासूम बच्चों के सामने ही घर का दरवाजा बंद करके फांसी लगा ली। तीन दिन तक घर में दो छोटे-छोटे बच्चे पिता के शव को कुंडे से लटकता देखते रहे। लेकिन डरे सहमे बच्चों ने किसी को नहीं बताया। जब भूख लगी और घर में खाने को कुछ नहीं मिला तो उन्होंने पड़ोसियों को आवाज लगाई। पड़ोसियों ने पहले तो दरवाजा खटखटाया, जब कोई जबाव नहीं मिला तो खिड़की से झांककर देखा। पता चला कि शव कुंडे से लटका हुआ है। दुर्गंध भी आ रही थी। मौके पर पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने शव को उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

लॉकडाउन में चली गई थी नौकरी
मामला इज्जतनगर थाना क्षेत्र के गायत्री नगर का है। यहां रहने वाले मनोज दयाल (35) नोएडा में एक निजी कंपनी में काम करते थे। लॉकडाउन में जब काम बंद हो गया तो वहां से घर वापस लौट आए। कुछ दिनों पहले मनोज की पत्नी उससे लड़कर मायके चली गई थी। वह छह और चार साल के दोनों बच्चों को मनोज के पास ही छोड़ गई थी। पहले नौकरी और फिर पत्नी के जाने से मनोज टूट गए और उन्होंने तीन दिन पहले फांसी लगाकर जान दे दी।

भूखे बच्चों ने पड़ोसियों से खाना मांगा
फांसी लगाने के बाद युवक का शव कुंडे से लटकता रहा। वहीं, बच्चे वहीं घर में रहे। बाद में जब बच्चों से भूख बर्दाश्त नहीं हुई तो उन्होंने रोते हुए पड़ोसियों से खाना मांगा। पड़ोसियों ने पूछा- घर पर कोई नहीं है क्या? तब बच्चों ने बताया कि उनके पिता कुंडे से लटक रहे हैं। घर पर मम्मी भी नहीं हैं। उन्हें बहुत तेज भूख लगी है।
इस पर पड़ोसियों को शक हुआ तो घर की खिड़की से झांककर देखा। मनोज का शव कुंडे से लटकता देख उनके होश उड़ गए। पड़ोसियों ने तत्काल पुलिस को फोन किया। शव को उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।

आए दिन होता था पत्नी से विवाद
पुलिस के मुताबिक, पड़ोसियों ने बताया कि मनोज के घर से आए दिन लड़ाई-झगड़े की आवाजें आती रहती थीं। कुछ दिनों पहले भी उसकी पत्नी उससे लड़कर मायके चली गई थी। इसके बाद से ही घर में सन्नाटा रहने लगा था। पुलिस फिलहाल इसे पत्नी से झगड़े के बाद आत्महत्या मान रही है। बाकी आगे पत्नी से पूछताछ के बाद ही मौत की असली वजह सामने आएगी।

घर में रखा बासी खाना और बिस्किट खाते रहे बच्चे
पड़ोसियों के मुताबिक बच्चों ने बताया कि पहले तो वो घर में रखा बासी खाना ही खाते रहे। मगर जब खाना खत्म हुआ तो उन्होंने घर में रखे नमकीन बिस्किट खाकर भूख शांत की। जब वह भी खत्म हो गए तो पड़ोसियों के घर खाना मांगने गए। तब पड़ोसियों को अनहोनी का पता चला।

इज्जतनगर पुलिस के मुताबिक, शव को मंगलवार रात ही पोस्टमार्टम को भेज दिया था। रात होने की वजह से बुधवार यानी आज मृतक के शव का पोस्टमार्टम किया जाएगा। जिसमें मौत की वजह साफ होगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...