बरेली में फर्जी आर्मी अफसर गिरफ्तार:NDA की परीक्षा पास करने के बाद मेडिकल में फेल हो गया था, वर्दी पहनकर ठगी करता था

बरेली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बरेली में सेना का फर्जी अफसर बनकर घूम रहे युवक को कैंट पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वह वीरांगना चौक के पास वर्दी में घूम रहा था। सूचना पर पुलिस पहुंची और शक होने पर उसे थाने लेकर आई। वहां उससे पूछताछ की गई। उसके पास एक सूटकेस था।

तलाशी लेने उसमें से सेना के अफसर की वर्दी, आई-कार्ड और अन्य सामग्री मिली। इन चीजों के बारे में वह ठीक से कुछ भी नहीं बता पा रहा था। पूछताछ के बाद पुलिस ने उसे जेल भेज दिया।

बिहार के रोहताश का रहने वाला है आरोपी
कैंट थाने के इंस्पेक्टर बलबीर सिंह ने बताया, "पकड़े गए युवक का नाम प्रवीण कुमार है। वह बिहार के रोहताश जिले के शाहमुरा रोड का रहने वाला है। पूछताछ में बताया कि वह खुद को सेना में लेफ्टिनेंट अधिकारी बताता था। वह बीए फर्स्ट ईयर का छात्र है। बिहार के ही एसपी जैन कॉलेज से वह पढ़ाई कर रहा है।"

उसने अपने घर पर झूठ बोला है कि वह सेना का अधिकारी बन गया है। इसी वजह से वह घर से बाहर रह रहा है। युवक के मुताबिक, वह बरेली आकर एक होटल में रुका था। शनिवार शाम को वह कैंट में घूमने निकला था। उसके बाद उसे पकड़ लिया गया। वह बरेली क्यों आया, इस बात का उसने जवाब नहीं दिया।

प्रवीण खुद को लेफ्टिनेंट बताकर लोगों से मिलता था। उसने अपने घरवालों से भी झूठ बोला था।
प्रवीण खुद को लेफ्टिनेंट बताकर लोगों से मिलता था। उसने अपने घरवालों से भी झूठ बोला था।

घरवालों को यकीन दिलाते के लिए भेजता था नकली फोटो
प्रवीण कुमार ने पुलिस को बताया कि वह फोटो खींचकर अपने घर वालों को भेज रहा था। ताकि, उन्हें यकीन हो सके कि वह आर्मी में अफसर बन गया है। आर्मी इंटेलिजेंस और अन्य अफसरों की पूछताछ के बाद युवक को पुलिस के हवाले कर दिया गया।

दिल्ली से खरीदी थी आर्मी अफसर की वर्दी
प्रवीण ने आर्मी अफसर की वर्दी दिल्ली से खरीदी थी। इस ड्रेस को पहनकर वह लोगों को बेवकूफ बनाता था। उसके फोन से अफसर की वर्दी में उसकी कई फोटो भी मिली हैं। इसके साथ ही पुलिस और आर्मी इंटेलिजेंस की टीम आरोपी युवक के फोन में मिले नंबरों की भी छानबीन कर रही है। ताकि उसके अन्य साथियों के बारे में जानकारी की जा सके। उसके पास से नकली सेना का आई-कार्ड भी बरामद हुआ है।

प्रवीण बिहार का रहने वाला है। उसके पास से सेना की वर्दी, आई-कार्ड और अन्य दस्तावेज मिले हैं।
प्रवीण बिहार का रहने वाला है। उसके पास से सेना की वर्दी, आई-कार्ड और अन्य दस्तावेज मिले हैं।

एनडीए की परीक्षा में पास, मेडिकल में हुआ था फेल
पुलिस की हिरासत में फर्जी अफसर प्रवीण ने बताया कि उसने 2021 में NDA की परीक्षा पास कर ली थी। मगर, वह मेडिकल में फेल गया था। हालांकि फेल होने की जानकारी उसने अपने घर में किसी को नहीं दी थी। उल्टा सेना में अफसर के पद पर सिलेक्शन होने की बात कहकर हर महीने घर वालों से मोटी रकम मांगता रहा।

प्रवीण के पास से एक मोबाइल फोन मिला है। उसमें आर्मी अफसर की वर्दी में उसकी कई तस्वीरें मिली हैं।
प्रवीण के पास से एक मोबाइल फोन मिला है। उसमें आर्मी अफसर की वर्दी में उसकी कई तस्वीरें मिली हैं।

अग्निवीर भर्ती में सेंधमारी करने का शक
सेना में अग्निवीर भर्ती चल रही है। जिसमें बीते दिनों दो फर्जी युवकों को सेना ने पकड़ा था। पूछताछ के बाद पुलिस ने दोनों को जेल भेजा था। पुलिस का मानना है कि प्रवीण भी सेना का फर्जी अफसर बनकर कैंट में इसीलिए घूम रहा था कि वह सेना भर्ती में आने वाले अभ्यर्थियों से सेना में भर्ती कराने के नाम पर रुपए ऐंठ सके। इसी दौरान संदिग्ध की सूचना पर उसे पकड़ा गया था।

खबरें और भी हैं...