बरेली...स्मैक तस्करों पर पुलिस ने कसा शिकंजा:स्मैक तस्कर उस्मान और उसकी पत्नी की करोड़ों की संपत्ति पर चलाया बुल्डोजर, शोरूम और दो मंजिला इमारत की जमींदोज

बरेली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बरेली पुलिस कार्रवाई करते हुए - Dainik Bhaskar
बरेली पुलिस कार्रवाई करते हुए

बरेली पुलिस ने स्मैक तस्करों के खिलाफ नकेल कसना शुरू कर दिया है। पुलिस ने मंगलवार को फतेहगंज पश्चिम के स्मैक तस्कर उस्मान और उसकी पत्नी का करोड़ों रुपए का मकान और शोरुम तोड़ दिया।

पुलिस की इस कार्रवाई से इलाके में अफरा-तफरी मच गई। जिसके बाद स्थानीय लोगों को पता चला कि उस्मान स्मैक तस्कर है और तस्करी से ही उसने करोड़ों की संपत्ति बनाई है। एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि तस्करों के खिलाफ कार्रवाई जारी है। अन्य तस्करों की संपत्ति चिन्हित की जा रही है। जल्द ही उन पर भी बुल्डोजर चलेगा।

पिछले हफ्ते पुलिस ने बीडीए के साथ मिलकर संयुक्त कार्रवाई की
पिछले हफ्ते पुलिस ने बीडीए के साथ मिलकर संयुक्त कार्रवाई की

तीसरे स्मैक तस्कर के खिलाफ हुई बड़ी कार्रवाई
पिछले हफ्ते भी पुलिस ने बीडीए के साथ मिलकर कुछ तस्करों पर संयुक्त कार्रवाई की थी। फतेहगंज पश्चिम के स्मैक तस्कर नन्हें उर्फ लंगडा के करोड़ों रुपए के बारातघर को जमींदोज कर दिया गया था। इसके बाद तस्कर उस्मान के साथ उसकी पत्नी रेहाना की संपत्ति पर मंगलवार को कार्रवाई हुई। मंगलवार दोपहर को पुलिस बीडीए टीम के साथ नकटिया पहुंची। फोर्स और भारी पुलिस बल देख लोगों के पसीने छूट गए।

उस्मान का शोरूम उसका बेटा रेहान और नोमान चला रहे थे। ध्वस्तीकरण करण की कार्रवाई शुरू होते ही लोगों की भीड़ लग गई। किसी अनहोनी की आशंका से पुलिस ने भीड़ को हटाया और दो मंजिला शोरूम के साथ पास में ही उमरिया गांव में बने दो मंजिला मकान को भी जमीदोज कर दिया। दो मंजिला मकान उस्मान ने अपनी पत्नी के नाम खरीदा था।

प्राधिकरण के अभियन्ता राजीव दीक्षित, सहायक अभियन्ता अनिल कुमार और आरके चौधरी के साथ अन्य अधिकारी मौजूद रहे
प्राधिकरण के अभियन्ता राजीव दीक्षित, सहायक अभियन्ता अनिल कुमार और आरके चौधरी के साथ अन्य अधिकारी मौजूद रहे

बीडीए के साथ मौजूद थी कई थानों की फोर्स
तस्कर के खिलाफ की जा रही कार्रवाई के दौरान कोई अनहोनी न हो इसके लिए अधिकारियों ने पूरी कमर कस रखी है। मंगलवार को कार्रवाई के दौरान मौके पर कोतवाली, कैंट, सुभाषनगर थाने की फोर्स मौजूद रही। इस दौरान प्राधिकरण के अभियन्ता राजीव दीक्षित, सहायक अभियन्ता अनिल कुमार और आरके चौधरी के साथ अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

गिरफ्तारी के डर से घर मे ताला लगाकर भागा परिवार
भारी पुलिस फोर्स देख तस्कर उस्मान के परिजन घर मे ताला डाल कर भाग निकले। सभी को पुलिस की कार्रवाई का डर सता रहा था। हाल यह था भागने से पहले उसके परिजनों ने घर की बिजली सप्लाई तक बंद नहीं की थी।

खबरें और भी हैं...