पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Bareilly
  • The Caretaker Alleges The Divisional Transport Officers, Gives Protection To The Brokers, Keeps Their Goods With Him After The Base Is Demolished

एआरटीओ कार्यालय में दलाली पर पलटवार:संभागीय परिवहन अधिकारियों का आरोप केयर टेकर देता है दलालों को संरक्षण, अड्‌डे ध्वस्त होने के बाद उनके सामान को रखवाता है अपने पास

बरेली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
संभागीय परिवहन विभाग के दाईं ओ - Dainik Bhaskar
संभागीय परिवहन विभाग के दाईं ओ

उत्तर प्रदेश के बरेली संभागीय परिवहन विभाग में उस वक्त से ज्यादा मामला बिगड़ा हुआ चल रहा है जब से कार्यालय के दो बाबूओं का रिश्वत लेते हुए वीडियो वायरल हुआ है। इसके बाद से विभाग ने दलालों के प्रवेश पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। उनके अड्डों को भी ध्वस्त कर दिया है। मगर अब समस्या वहां आ रही है जहां उनके अड्‌डे फिक्स है। जिन्हें हटाने में संभागीय परिवहन विभाग की भी कुछ नहीं कर पा रहा है। विभागीय अधिकारियों का आरोप है कि विभाग के भवन स्वामी का केयर टेकर कुछ लोगों को संरक्षण दे रहा है। जिसकी वजह से वह उन्हें हटाने में असमर्थ हो रहे है। दलालों के अड्‌डे ध्वस्त करने के बाद वह केयर टेकर उन्हें शरण दे देता है। उनके सामान को अपने यहां दुकानों या घर में रखवा लेता है। जिससे लगातार दलालों के भाव बढ़ रहे है।

किराए के भवन में चल रहा है संभागीय परिवहन विभाग
दरअसल, बीते वर्षों से बरेली का संभागीय परिवहन विभाग एक किराए के भवन में चल रहा है। बताया जा रहा है कि यह भवन उमेश अग्रवाल का है। चूकिं वह यहां रहते नहीं इसलिए उन्होंने भवन का कुछ हिस्सा केयर टेकर चंद्रभान को दे रखा है। वह यहीं पर रहता है और पूरे भवन की देखभाल करता है। आरोप है कि चंद्रपाल ने आवासीय जगह में ही कुछ लोगों को किराए पर जगह दे रखी है। जहां बैठकर लोग अवैध तरीके से संभागीय परिवहन विभाग में कार्य कराते है। जिसकी वजह से अराजकता फैली हुई है।

कई बार ध्वस्त किए जा चुके है दलालों के अड्‌डे
संभागीय परिवहन विभाग के अधिकारियों ने कई बार दलालों के अड्‌डे ध्वस्त करने की कोशिश की। मगर ध्वस्त होने के एक-दो दिन तो सब कुछ ठीक रहता है। मगर बाद में फिर से दलालों के अड्‌डे सजने लगते है। इस बार भी यही हो रहा है। करीब तीन पहले अड्‌डों को ध्वस्त जरूर किया गया। मगर अब फिर से दलालों के अड्‌डे सजने लगे है।

क्या कहते है अधिकारी
एआरटीओ प्रशासन आरपी सिंह का कहना है कि यह बात सही है कि यहां पर कुछ लोगों के निश्चित अड्‌डे होने की वजह से उन पर कार्रवाई नहीं हो पा रही है। यह बात भी सामने आई है कि दलालों के अड्‌डे ध्वस्त करने के बाद केयर टेकर उन्हें शरण दे देता है। जिसकी वजह से दलालों को यहां से हटाने में समस्या आ रही है। मगर हालात चाहें कोई भी हो, संभागीय परिवहन विभाग में अब दलालों के प्रवेश पर पूरी तरह से रोक लगाई जा चुकी है। किसी भी तरह की अराजकता बर्दाशत नहीं की जाएगी।

खबरें और भी हैं...