पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Bareilly
  • The Water Level Of Ramganga Is Now Less Than Five Meters Below The Danger Mark Due To Rain, If The Water Released From Kalagarh Dam Crosses The Danger Mark

लगतार बढ़ रहा रामगंगा का जलस्तर:बारिश से रामगंगा का जल स्तर अब खतरे के निशान से महज पांच मीटर से भी नीचे, कालागढ़ बांध से छूटा पानी तो खतरे का निशान पार

3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

लगातार हो रही भीषण बारिश की वजह से अब रामगंगा का जलस्तर लगातार बढ़ने लगा है। रामगंगा खतरे के निशान से महज पांच मीटर से भी नीचे रह गई है। ऐसे में यदि अब कालागढ़ बांध से पानी को छोड़ा गया तो महज दो से तीन दिनों में ही रामगंगा का जलस्तर खतरे के निशान से पार हो सकता है। हांलाकि अधिकारियों का कहना है कि पांच मीटर निशान को नीचे काफी नीचे माना जाता है।

अभी 158 .18 मीटर है रामगंगा का जलस्तर
बाढ़ खंड विभाग के अधिकारियों की माने तो अभी रामगंगा का जलस्तर इन दिनों केवल 158.18 मीटर है। जबकि खतरे का निशान 163 मीटर पर माना जाता है। इससे अभी रामगंगा को खतरे के निशान तक पहुंचने में 4.85 मीटर पानी और बढ़ाना होगा। यदि बारिश के हालत यही रहे तो अगले एक सप्ताह के अंदर रामगंगा खतरे के निशान तक पहुंच सकती है। हांलाकि विभागीय अधिकारी अभी इसकी उम्मीद कम जता रहे है।

161 मीटर पर होता है अलर्ट प्वाइंट
विभागीय अधिकारियों की माने तो खतरे के निशान से पहले एक अलर्ट प्वाइंट भी होता है। रामगंगा का अलर्ट प्वाइंट 161 मीटर पर है। इसका मतलब यदि रामगंगा का पानी महज तीन मीटर और बढ़ गया तो लोगों को अलर्ट जारी कर दिया जाएगा।

खतरे के निशान से महज पांच मीटर से भी नीचे रह गई है रामगंगा।
खतरे के निशान से महज पांच मीटर से भी नीचे रह गई है रामगंगा।

कालागढ़ बांध से पानी छोड़ने पर विचार

उधर दूसरी ओर चर्चा है कि तेज बारिश की वजह से कालागढ़ बांध से भी पानी को रामगंगा के लिए छोड़ा जा सकता है। इस पर योजना बनाई जा रही है। हालांकि अधिकारी अभी ऑफिसियल तरीके से कुछ भी बताने के लिए तैयार नहीं है। उकना कहना है कि यदि ऐसा हुआ तब भी तीन से चार दिनों में रामगंगा का जलस्तर बढ़ेगा।

जलस्तर बढ़ा तो कई गांव हो सकते है प्रभावित
रामगंगा का जलस्तर बढ़ने से कोई एक दो गांव नहीं बल्कि रामगंगा के आस-पास के तमाम गांवों में बाढ़ का खतरा बढ़ सकता है। इन गांवों में भगवान पुर, सरदार नगर, कोहनी, फिरोजपुर, जगतपुर, चमरुआ, त्रिकुनिया, रूकमपुर, बल्लिया जैसे रामगंगा के आस-पास के कई गांव शामिल है।

खबरें और भी हैं...