• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Bareilly
  • Top 10 Crook Arrested For Double Murder, Robbery: The Absconding Miscreant Was Caught By The Sirauli Police With A Gun On The Information Of The Informer

डबल मर्डर, लूट-डकैती करने वाला टॉप-10 बदमाश गिरफ्तार:8 साली से फरार था, बदायूं में गैंग बनाकर कर रहा था वारदात, तमंचा भी बरामद

बरेली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फरार चल रहे बदमाश को सिरौली पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर तमंचे के साथ दबोचा। - Dainik Bhaskar
फरार चल रहे बदमाश को सिरौली पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर तमंचे के साथ दबोचा।

बरेली समेत बदायूं में हत्या, लूूट और डकैती के मामले में फरार चल रहे शातिर बदमाश गुड्डू उर्फ ग्रीसपाल पुत्र पूरनलाल निवासी गांव जंगबाजपुर थाना सिरौली को पुलिस ने तमंचे के साथ धर दबोचा। आरोपी करीब 8 साल से फरार चल रहा था।

गुरुवार को पुलिस को मुखबिर ने सूचना दी कि गुड्डू किसी से मिलने सिरौली आया है। पुलिस ने ऑटो स्टैंड के पास घेराबंदी कर दबोच लिया। पुलिस ने तलाशी ली तो उसके पास तमंचा मिला। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया है।

डकैती के विरोध पर कि थी दाे की हत्या

सिरौली थाना प्रभारी अश्वनी कुमार ने बताया कि गुड्डू उर्फ ग्रीसपाल बेहद शातिर बदमाश हैं। उसके खिलाफ 2013 में भोजीपुरा थाने में पहला मुकदमा दर्ज हुआ था। उसने डकैती के दौरान दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया था। 2014 में सिरौली थाने में लगातार तीन अलग-अलग मुकदमे दर्ज हुए।

जब सिरौली पुलिस उसके पीछे पड़ी तो आरोपित ने जिला छोड़ कर बदायूं की तरफ रुख किया। जहां उसके खिलाफ फिर फैजगंज बहेटा थाना क्षेत्र में लूट समेत ताबड़तोड़ तीन वारदातों को गैंग बनाकर अंजाम दिया। वहां भी उसके खिलाफ मुकदमे दर्ज हुए। इसके बाद फैजगंज बहेटा पुलिस ने उसके खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई भी की। इसके बाद से वह लगातार पुलिस के पकड़ से दूर चल रहा था।

बोली से पहले निकलती थी गोली

सिरौली थाना प्रभारी ने बताया कि गुड्‌डू तमंचा चलाने में माहिर है। उसका निशाना भी तमंचे से अचूक है। वह चाहे पुलिस हो या आम आदमी अगर सामना हुआ तो बोली से पहले उसके तमंचे से गोली निकलती थी। इसके चलते उसके नाम से आम आदमी भी खौफ खाता था।

वह इतना शातिर है कि पुलिस ने कई बार उसे दबोचने के लिए जाल बिछाया, लेकिन वह पुलिस को चकमा देकर भागने में सफल हो जाता था। पहले वह बरेली में गैँग बनाकर वारदात करता था लेकिन जब बरेली में उसके खिलाफ सख्ती हुई तो वह बदायूं चला गया और वहां के बदमाशों का गैंग बनाकर वारदात को अंजाम देने लगा था।