बस्ती...घोटालेबाज ग्राम प्रधानों, सेक्रेटरियों से होगी वसूली:डीएम ने जारी किया नोटिस, वेतन रोकने के दिए निर्देश; शिकायतों की जांच के बाद की गई कार्रवाई

बस्तीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
डीएम सौम्या अग्रवाल ने कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। - Dainik Bhaskar
डीएम सौम्या अग्रवाल ने कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

बस्ती में ग्राम पंचायतों में बिना कार्य कराए लाखों रुपए का सरकारी धन का बंदरबांट करने वाले 4 पूर्व ग्राम प्रधानों, 5 सेक्रेटरियों, 3 तकनीकी सहायकों, एक रोजगार सेवक से धन की वसूली की जाएगी। डीएम सौम्या अग्रवाल ने इसके आदेश जारी किए है। इसके अलावा घोटाले के मामले में चार पूर्व, दो वर्तमान ग्राम प्रधानों, 14 सेक्रेटरियों को नोटिस जारी की गई है। एक सेक्रेटरी का अग्रिम आदेश तक वेतन रोका गया है। डीएम के तेवर ने ग्राम पंचायतों के विकास कार्यो के घोटालेबाजों की नींद उड़ा दी है। कारण बताओ नोटिस और धन की रिकवरी के आदेश से हड़कम्प की स्थिति है।

जनता दर्शन में मिली थी शिकायतें

विकास खण्ड सल्टौआ गोपालपुर के ग्राम पंचायत पोखरभिटवा में पूर्व ग्राम प्रधान विजय लक्ष्मी चौधरी से धनराशि 2,17,115.00 रूप्ए भू-राजस्व बकाये की तरह वसूलने, तत्कालीन ग्राम विकास अधिकारी राजन चौधरी से 74,100.00 की वसूली उनके वेतन से करने, तकनीकी सहायक अशोक कुमार चौधरी से 1,15,869.00, ग्राम पंचायत अधिकारी रमाकान्त वर्मा से 1,43,014.00 रूपये की वसूली, कुदरहा ब्लाक के ग्राम पंचायत गायघाट में पूर्व ग्राम प्रधान सुमन, रिटायर्ड सेक्रेटरी सत्यराम चौधरी, तत्कालीन सेक्रेटरी रामदरश से गबन की धनराशि वसूल किए जाने का डीएम ने आदेश दिया है। आईजीआरएस, जनता दर्शन में प्राप्त शिकायतों की जांच उपरांत यह कार्रवाई की गई है।

विकाय कार्यों में अनियमितता पर जारी किया नोटिस

इसके अलावा सल्टौआ गोपालपुर के रूद्रपुर ग्राम पंचायत की ग्राम प्रधान, सेक्रेटरी, गौर ब्लाक के ग्राम पंचायत करमा सुजिया के पूर्व प्रधान, सेक्रेटरी, हर्रैया ब्लाक के ग्राम पंचायत गोभिया के पूर्व प्रधान, सेक्रेटरी, कप्तानगंज ब्लाक के ग्राम पंचायत नरायनपुर के पूर्व प्रधान, सेक्रेटरी, सदर ब्लाक के चननी सियारोबास के 7 सेक्रेटरी, बहादुरपुर ब्लाक के ग्राम पंचायत मल्हवारा के पूर्व प्रधान सेक्रेटरी, तकनीकी सहायक, रोजगार सेवक के विरूद्ध कारण बताओ नोटिस जारी की गई है। इन पर जबरदस्ती खडण्जा निर्माण कराकर शासकीय धन का दुरूपयोग करने, शौचालयों के निर्माण की धनराशि अपात्रों को देने, शौचालय निर्माण कार्य पूरा न कराने, विकास कार्यो में अनियमितता पाए जाने पर कारण बताओ नोटिस जारी की गई है।

सल्टौआ गोपालपुर ब्लाक के ग्राम पंचायत पोखरभिटवा में मनरेगा के तहत फर्जी अभिलेख तैयार कर गलत भुगतान के मामले में दोषी पूर्व प्रधान, सेक्रेटरी, तकनीकी सहायक, बहादुरपुर ब्लाक के ग्राम पंचायत जलालपुर में मनरेगा योजना में गलत भुगतान करने के मामले में पूर्व प्रधान, तत्कालीन सेक्रेटरी, तकनीकी सहायक, रोजगार सेवक से वसूली के लिए विभागाध्यक्ष को निर्देशित किया गया है।

खबरें और भी हैं...