बस्ती में हादसा...परिवार के 5 लोगों की मौत:मां की मौत पर पति और 4 बेटियों के साथ जा रही थी महिला, कंटेनर से टकराई कार; पति-पत्नी और 3 बेटियों की मौत, एक बाल-बाल बची

बस्तीएक वर्ष पहले
कार में सवार मासूम समेत 5 लोगों की मौत हो गई। एक की हालत गंभीर है।

बस्ती में गुरुवार सुबह भीषण हादसा हो गया। तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर एनएच-28 पर एक होटल के पास खड़े कंटेनर में पीछे से जा घुसी। रफ्तार इतनी तेज थी कि कार के परखच्चे उड़ गए। हादसे में पति-पत्नी और तीन बेटियों की मौत हो गई, जबकि एक बेटी सुरक्षित है। चालक की हालत गंभीर है। उसे अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतक के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। घायलों का ठीक तरह से इलाज और प्रभावितों को हर संभव मदद और राहत प्रदान करने के निर्देश दिए हैं।

गैस कटर से काटकर निकाले शव
गैस कटर से काटकर कार में फंसे सभी के शव को बाहर निकाला गया। कार में चालक सहित 7 लोग सवार थे, जिसमें एक ही परिवार के 6 लोग थे। इसमे अनम (13) सुरक्षित बच गई है।

इनकी हुई मौत

  • अब्दुल अजीज (50) पुत्र जहूर
  • नरगिस तवस्सुम (48) पत्नी अब्दुल अजीज
  • अनम(13) पुत्री अब्दुल अजीज
  • तिउरा(10) पुत्री अब्दुल अजीज
  • सुबा (6) पुत्री अब्दुल अजीज
हादसा सुबह के वक्त हुआ। बारिश हो रही थी। तेज आवाज सुनकर गांव के लोग भागकर आए तो देखा कि कार कंटेनर में फंसी हुई है। आगे का हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है।
हादसा सुबह के वक्त हुआ। बारिश हो रही थी। तेज आवाज सुनकर गांव के लोग भागकर आए तो देखा कि कार कंटेनर में फंसी हुई है। आगे का हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है।

लखनऊ के शारदानगर में रहता था परिवार
मूलरूप से बिहार राज्य के भागलपुर के निवासी 50 वर्षीय अब्दुल अजीज लखनऊ के शारदा नगर में पत्नी और 4 बेटियों के साथ रहते थे। यहां प्रापर्टी डीलिंग का काम करते थे।

सास की मौत की खबर मिली तो भोर में ही निकल पड़े
अब्दुल का ससुराल झारखंड में है। सास की मौत की खबर मिली तो परिवार के साथ भोर में ही निकल पड़े। शारदानगर का ही रहने वाला अभिषेक गाड़ी चला रहा था।

कार में परिवार के सभी लोग बुरी तरह फंस गए थे। एनएचएआई कर्मिचारियों, पुलिस और स्थानीय लोगों ने मिलकर निकाला, जिसमें 5 शव निकाले। चालक गंभीर रूप से घायल था। कार में ही सवार 13 साल की लड़की बाल-बाल बच गई, उसे ज्यादा चोट नहीं पहुंची है।
कार में परिवार के सभी लोग बुरी तरह फंस गए थे। एनएचएआई कर्मिचारियों, पुलिस और स्थानीय लोगों ने मिलकर निकाला, जिसमें 5 शव निकाले। चालक गंभीर रूप से घायल था। कार में ही सवार 13 साल की लड़की बाल-बाल बच गई, उसे ज्यादा चोट नहीं पहुंची है।

अनम बोली, सो रहे थे, तभी टक्कर हो गई
सुरक्षित बची अनम(13) ने बताया हम सो रहे थे। अचानक तेज आवाज के साथ टक्कर हो गई। अम्मी, अब्बू और हम सब फंस गए थे। चारो तरफ खून ही खून था। कोई बोल नहीं पा रहा था। हमें निकाला गया।

सूचना मिलते ही घटनास्थल पर सीओ समेत दो थानों की पुलिस पहुंच गई है। घायल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
सूचना मिलते ही घटनास्थल पर सीओ समेत दो थानों की पुलिस पहुंच गई है। घायल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

4 दिन पहले भी हुआ था यहां हादसा
बस्ती में 4 दिन पहले यानी रविवार को भी भीषण सड़क हादसा हुआ था। यहां के नेशनल हाईवे पर गोंडा जिले के बॉर्डर के पास एक प्राइवेट बस अनियंत्रित होकर ट्रेलर से टकरा गई थी। इसमें दो लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 10 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

खबरें और भी हैं...