बस्ती पहुंचे छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल:बोले- योगी जी गाय को गुड़ खिलाकर फोटो खिंचाते हैं, हम गाय को माता मानते हैं

बस्ती2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बस्ती पहुंचे छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल। - Dainik Bhaskar
बस्ती पहुंचे छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल।

बस्ती जिला मुख्यालय से करीब 30 किमी दूर रूधौली विधानसभा में कांग्रेस ने किसान सम्मेलन का आयोजन किया था। इस कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल भी पहुंचे थे। किसानों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि बस्ती की धरती पर आप सब को नमन। कई अड़चनों के बाद भी आप उन्हें सुनने के लिए किसान सम्मेलन में आए।

अब आप मुद्दों के नाम पर करें वोट

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सीएम योगी और भाजपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि बीजेपी धर्म के नाम पर वोट मांगती है। सपा और बसपा जाति के नाम पर वोट मांगते हैं। उन्होंने कहा कि हम किसान हैं और हम गाय को माता मानते हैं। योगी जी गाय को गुड़ खिला कर फोटो खिंचाते हैं। छत्तीसगढ़ मॉडल की चर्चा करते हुए कहा कि वहां एक रुपए में चावल देते हैं और 2 रुपए किलो गोबर खरीदते हैं। एक साल में हमने 24 लाख क्विंटल गोबर खरीदा है। गरीबों को पैसा गया, फसलों की भी रखवाली हो गई। उत्तर प्रदेश के लोगों ने जाति, धर्म के नाम पर वोट देकर देख लिया। अब आप अपने मुद्दों पर वोट करिए।

किसानों के आगे झुके पीएम मोदी

सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में किसानों के हित में फैसले लिए गए, जिसके बाद छत्तीसगढ़ की जनता ने उन्हें तीन चौथाई बहुमत दिया। सरकार बनने के बाद 18 लाख किसानों के 9 हजार करोड़ ऋण माफ कर दिए। सीएम बघेल ने पूछा कि उत्तर प्रदेश में किसानों को 2,500 रुपए क्विंटल धान मिलना चाहिए कि नहीं। उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस पार्टी ही है जो कहती है करके दिखाती है। उन्होंने कहा कि किसानों को बीजेपी वाले आतंकवादी, आन्दोलन जीवी कहते हैं। किसानों ने साल भर आंदोलन चलाया। राहुल गांधी, प्रियंका गांधी ने देश भर में किसानों का समर्थन किया। किसानों ने सरकार को बता दिया कि आपको फैसला बदलना पड़ेगा। पीएम नरेंद्र मोदी ने 3 काले कानून वापस लिए, अब एमएसपी पर भी कानून बनाना पड़ेगा।

किसानों को नहीं मिल रही खाद

सीएम भूपेश बघेल किसानों की दुर्दशा पर बोले कि उन्हें आश्चर्य तब हुआ जब उन्होंने देखा कि यहां पर बिजली नहीं डीजल से पानी का इंजन चलता है। उन्होंने कहा कि उपचुनाव में कई प्रदेश के लोगों ने महंगाई के खिलाफ वोट दिया और नतीजा दूसरे दिन डीजल और पेट्रोल के दाम कम कर दिए गए। यूपी का किसान ठान ले तो डीजल की कीमत 50 रुपए हो सकती है। उन्होंने कहा कि यूपीए की सरकार के समय जब पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ते थे तो बीजेपी की नेता हेमा मालिनी, स्मृति ईरानी प्रदर्शन करती थीं, लेकिन अब वो कहां हैं। इतना ही नहीं डीएपी की कीमत आज 1500 रुपए है। किसानों को खाद नहीं मिल रही। किसानों को उनकी फसलों का उचित दाम नहीं मिल रहा।

मंहगाई बढ़ाकर परेशान कर रही बीजेपी

सीएम भूपेश बघेल ने सवाल खड़ा करते हुए कहा कि बीजेपी कहती है कि 2022 में किसानों की आय दोगुनी कर देंगे। 2022 में 23 दिन बचा है, क्या किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने मंहगाई को कम करने के नाम पर जनता को बेवकूफ बनाकर उनसे वोट लिया। मंहगाई बढ़ाकर अब उनको परेशान किया जा रहा है।