बस्ती में विशेषज्ञ डॉक्टरों की तैनाती की मांग:जन समस्‍याओं के निराकरण के लिए शिव सेना प्रतिनिधि मंडल ने सौंपा 3 सूत्रीय ज्ञापन

बस्ती2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शिव सेना पदाधिकारियों के एक प्रतिनिधिमण्डल ने जन समस्याओं के निराकरण के लिए डीएम को संबोधित 3 सूत्रीय ज्ञापन प्रशासनिक अधिकारी को सौंपा। मांग रखी कि सरकारी अस्पतालों में मरीजों को बेहतर सेवा देने के साथ सड़कों पर छुट्टा घूम रहे गोवंश की रक्षा किया जाए। ज्ञापन में जिले की स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं की बदहाली दूर कराए जाने, यूरोलाजी, कार्डियालाजी, न्‍यूरोलाजी के विशेषज्ञ डाक्‍टरों की तैनाती कराए जाने, सरकारी अस्‍पताल के ऐसे डाक्‍टरों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की गई है जो प्राइवेट प्रैक्टिस कर रहे हैं या निजी नर्सिंग होमों में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

शिव सेना जिला प्रमुख प्रमोद पाण्‍डेय ने कहा कि जिले की सरकारी स्वास्थ्य सेवा बुरी तरह से लड़खड़ा गई है। हार्ट, न्यूरो चिकित्सक न होने के कारण मरीजों को इलाज के लिए लखनऊ दौड़ना पड़ता है, जीवन रक्षक दवाओं का अभाव है। सरकारी स्तर पर संचालित गौशालाओं की स्थिति बदहाल है और स्‍वच्‍छता अभियान जमीनी धरातल पर नहीं दिखाई दे रहा है। गौशालाओं की जगह शहर, गांवों में छुट्टा मवेशियों के चलते आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं।

ज्ञापन में निजी नर्सिंग होमों में सेवा देने वाले, निजी प्रैक्टिस करने वाले सरकारी डाक्‍टरों, स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों के विरूद्ध कार्रवाई किए जाने, गौशालाओं की स्थिति में सुधार लाने, स्‍वच्‍छता अभियान में तेजी लाते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में सफाईकर्मियों की जवाबदेही सुनिश्चित कराए जाने की मांग की गई है। ज्ञापन सौंपने वालों में मंडल प्रमुख संजय प्रधान, जिला प्रमुख भवानी सेना चन्‍द्रावती, शिवेश शुक्‍ला, रोहित कुमार, विजय कुमार, मनोज कुमार, संजय कुमार, गुड्डू मिश्रा, चन्‍द्रावती, कुसुम, पुष्‍पा आदि शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...