बस्ती में कार की टक्कर से युवक की मौत:कार में फंसकर 50 मीटर दूर तक घसीटा, चालक कार छोड़कर हुआ फरार

बस्ती2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विलाप करते हुए परिजन। - Dainik Bhaskar
विलाप करते हुए परिजन।

बस्ती में वाल्टरगंज थाना क्षेत्र के पड़िया चौराहे पर तेज रफ्तार कार की ठोकर से साइकिल सवार पल्लेदार की मौत हो गई। गंभीर रूप से घायल अवस्था में वाल्टरगंज पुलिस ने उसे प्राइवेट वाहन से जिला अस्पताल पहुंचवाया, जहां इलाज के उसने दम तोड़ दिया।

वाल्टरगंज थाना क्षेत्र के पड़िया खास गांव निवासी जसवंत ऊर्फ कन्हैया पुत्र बहरैची (35) बस्ती रेलवे स्टेशन पर पल्लेदारी करता था। जहां काम करने के बाद वह साइकिल से घर लौट रहा था। अभी वह गांव के निकट पड़िया चौराहे पर पहुंचा था कि बांसी से बस्ती की तरफ जा रही तेज रफ्तार कार ने उसे अपनी चपेट में ले लिया। साइकिल समेत वह कार में फंस गया। इस हादसे के बाद कार चालक कार रोकने की बजाय उसे स्पीड में लेकर भागने लगा, जिससे कार में फंसे कन्हैया कार के साथ करीब 50 मीटर दूर तक घिसटता चला गया।

घर पर विलाप करते परिजन।
घर पर विलाप करते परिजन।

पालीटेक्निक के पास पुलिस ने पकड़ा

कार से पल्‍लेदार के अलग होने के बाद कार चालक वाहन लेकर तेज गति से भागने लगा। इसकी सूचना वाल्‍टरगंज पुलिस को दी गई। पुलिस ने पीछा कर कार को पालिटेक्निक के पास पुरानी बस्‍ती थाना के लिए अधिग्रहित जमीन के पास से अपनी अभिरक्षा में लिया। इस बीच कार चालक कार को छोडकर फरार हो गया। गंभीर स्थित में युवक को जिला अस्‍पताल ले जाया गया, जहां परीक्षण उपरांत डाक्‍टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को कब्‍जे में लेकर पुलिस ने पोस्‍टमार्टम के लिए भेजा।

विलाप करते हुए बच्चे।
विलाप करते हुए बच्चे।

मृतक जसवन्‍त उर्फ कन्‍हैया की पत्नी प्रमिला देवी उसके तीन बच्‍चे बड़ी बेटी प्रियंका (12) , आकृति (7) बेटा अंकित (5) माता सोमना देवी, पिता बहरैची का रो-रो कर बुरा हाल है। वह दो भाइयों में सबसे बडा था। उसकी मौत से मासूम बच्‍चों के सिर से पिता का साया उठ गया है। वहीं परिवार की परवरिश का भी संकट खडा हो गया है। एसओ योगेश कुमार सिंह ने बताया कि मृतक के पिता की तहरीर पर कार चालक के विरूद्ध अज्ञात नाम से मुकदमा दर्ज किया गया है।

खबरें और भी हैं...