प्रभारी मंत्री ने अस्पताल और सरकारी विभागों का किया निरीक्षण:​​​​​​​भदोही में जय प्रकाश निषाद ने अधिकारियों के साथ की बैठक, कहा- जो थोड़ी बहुत कमियां हैं उन्हें दुरुस्त करिए

​​​​​​​भदोही4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भदोही में प्रभारी मंत्री जय प्रकाश निषाद ने अस्पताल का किया निरीक्षण। - Dainik Bhaskar
भदोही में प्रभारी मंत्री जय प्रकाश निषाद ने अस्पताल का किया निरीक्षण।

भदोही में प्रभारी मंत्री जय प्रकाश निषाद ने सरकारी अस्पतालों और विभागों का निरीक्षण किया। उन्हें जो भी थोड़ी बहुत कमियां मिली उन्हें दुरुस्त करने का उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया। इसके बाद उन्होंने अधिकारियों के साथ बैठक की। जिसमें उन्होंने विपक्ष पर जमकर हमला बोला। कहा कि योगी सरकार में बजट की कोई समस्या नहीं है। काम जमीन पर होना चाहिए।

जमीनी हकीकत को जानने के लिए किया दौरा
जिले में प्रभारी मंत्री जय प्रकाश निषाद ने इलाकों में घूम कर विकास कार्यों का हाल जाना। जमीनी हकीकत को जानने के लिए कई अस्पतालों और सरकारी विभागों का निरीक्षण भी किया है। कहा की जो भी थोड़ी बहुत कमियां है उसे भी तत्काल दुरुस्त कर लिया जाए अन्यथा कार्रवाही के लिए तैयार रहे। इस दौरान मंत्री ने योगी सरकार के साढ़े चार साल होने पर कलेक्ट्रेट सभागार में सभी अधिकारियों के साथ बैठक कर पहले की सरकारों में हुए घोटालों और कामकाज को लेकर नाराजगी जाहिर की है।

सरकारी कर्मचारियों को दी नसीहत
मंत्री ने सरकारी कर्मचारियों को नसीहत देते हुए कहा की योगी सरकार में बजट की कोई समस्या नहीं है। काम जमीन पर होना और दिखना चाहिए। इसके बाद प्रभारी मंत्री ने पत्रकारों के साथ भी बैठक कर जनपद की सही स्थिति को जाना और पत्रकार वार्ता कर अपनी और अपनी सरकार की पीठ थपथपाई है। टूटी हुई सड़कों पर कहा की बरसात में सड़कें बनती थी और खराब हो जाती थी। पैसा पानी में बह जाता था लेकिन योगी आदित्यनाथ ने कहा की बरसात के ठीक बाद दो महीनों के अंदर जनपद ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश में सड़कें चमकने लगेंगी। इससे जनता को फायदा काफी दिनों तक मिलेगा। सड़कों पर गायों और आवारा पशुओं के घूमने के सवाल पर कहा की गाय हमारी माता है और रहेंगी। इसके लिए सरकार ने अलग से बजट बनाया और दिया गया है। प्रति एक पशु पर 900 रुपए प्रति माह के हिसाब से सरकारी गैर सरकारी संस्थाओं को दिया जा रहा है। ताकि उनकी देखभाल अच्छी और बेहतर हो सके।

खबरें और भी हैं...