चाँदपुर में इंसाफ पाने को भटक रही महिला:पति ने सऊदी अरब से फोन पर दिया तीन तलाक,बोला अब तेरा मुझसे कोई संबंध नहीं

चाँदपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

चांदपुर में दो बच्चों की विवाहिता को पति ने सऊदी अरब से फोन पर तीन तलाक देकर कहा तुझ से अब मेरा कोई संबंध नहीं रहा । दो बच्चों की मां पति के तीन तलाक देने के बाद दर-दर की ठोकरें खाती फिर रही है तथा अपने बच्चों की खातिर पुलिस से आरोपी के खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई की गुहार लगा रही है ।

सरकार ने तीन तलाक पर कानून तो बना दिया है लेकिन आज भी जमीनी हकीकत पर महिलाओं को इंसाफ मिलता दिखाई नहीं दे रहा है सरकार और कानून अपने तौर से पूरी कोशिश कर रही है ताकि महिलाओं को इंसाफ मिल सके सरकार का मुख्य एजेंडा था कि मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक से मुक्ति मिल सके इसलिए सरकार ने मुस्लिम विवाह अधिनियम को मंजूरी दी और उसे जमीनी पर लाने की कोशिश की लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है।

कई महिलाओं के साथ ससुराल पक्ष द्वारा ज्यादती होने के बाद भी मुकदमे दर्ज नहीं होते और अगर कोई मुकदमा दर्ज भी हो जाए तो गिरफ्तारी होने को तैयार नहीं है । ताजा मामला बिजनौर जिले के चांदपुर का है यहां मोहल्ला सराय रफी अहमद नगर चांदपुर की एक दो बच्चों की मां पति द्वारा सऊदी अरब से फोन पर तीन तलाक देने के बाद दर-दर की ठोकरें खाती फिर रही है और उस को इंसाफ नहीं मिल रहा है । महिला के इस पति से 2 बच्चे भी हैं जिनके पालन पोषण के लिए महिला को खुद नौकरी करनी पड़ रही है।

महिला सिदरा का आरोप है कि उसकी शादी सन 2014 में दिलदार अहमद पुत्र एहसान अहमद निवासी मोहल्ला शाहचंदन थाना चांदपुर जनपद बिजनौर से हुई थी पीड़िता के दिलदार अहमद से 2 बच्चे हैं उसकी शादी दिलदार अहमद से सन 2014 में हुई थी और पति उसका ससुर एहसान सास कफीला व उसका बड़ा भाई इसरार अहमद उसको आए दिन दहेज की मांग को लेकर परेशान करते थे मारते पीटते थे गाली गलौज करते थे। हालांकि उसनें अपने माता-पिता से अपने पति और ससुराल पक्ष के लोगों को थोड़ा-थड़ा करके ₹600000 रूपये लाकर दे दिए थे, लेकिन फिर भी दहेज लोभियों का मन नहीं भरा और वह उसे फिर से तंग करने लगे यहां तक कि घर से भी निकाल दिया और पीड़िता अपने बच्चों के पालन पोषण के लिए दिल्ली में रहकर नौकरी करने लगी।

इतने पर भी ससुराल पक्ष के लोगों का दहेज को लेकर मुंह बंद नहीं हुआ और उसके पति ने ससुराल पक्ष के कहने में आकर उसको सऊदी अरब से ही फोन पर तीन तलाक दे दिया। तलाक देकर कहा कि अब तेरा मुझ से कोई संबंध नहीं रहा। पीड़िता सिदरा ने पुलिस से मामले में कानूनी कार्रवाई की गुहार लगाई है। हालांकि पुलिस ने सिदरा की तहरीर के आधार पर दहेज, मुस्लिम विवाह अधिनियम, दहेज अधिनियम मारपीट और अन्य धाराओं में पति दिलदार अहमद, ससुर एहसान अहमद , सास कफीला व उसके बड़े भाई इसरार अहमद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है लेकिन गिरफ्तारी ना होने के चलते महिला अभी भी थाना तहसील के चक्कर काट रही है आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।

खबरें और भी हैं...